शौचालय घोटाला:- मनी लांड्रिंग का मामला सामने आने के बाद ED ने संभाली जांच की कमान

TOILET-SCAM BIHAR
TOILET-SCAM
Advertisement

पटना। बिहार से शौचालय निर्माण में उजागर उए घोटाला में मनी लाड्रिंग का मामला सामने आया है। यानि इस पूरे मामले में काला धन को सफेद करने का खेल पूरे जोंरो पर रहा है। यहीं कारण है कि अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) इस मामले की जांच करेगा। इस मामले को लेकर ईडी ने एफआइआर दर्ज कर ली है।

बता दे कि ये पूरा मामला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा के हरनौत स्थित चैरिया पंचायत से सामने आया था। इस घेटाले में बड़े पफमाने पर शौचालयो के निर्माण की राशी के साथ हेर फेर किया गया था। जिसके बाद जब जांच शुरू हुई तो इसकी कई परतें आगे खुलती गईं। शौचालय निर्माण में फर्जी निकासी का पता चला। पटना के प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर के आदेश पर हरनौत प्रखंड के तीन अधिकारियों सहित 84 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया।

इतना ही नहीं जांच के दौरान अगल-अलग जिलो में भी ऐसे ही घोटाले खुलकर सामने आए। ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने स्वीकार किया कि कहीं-कहीं इस तरह के मामले सामने आ रहे है। साल 2012 से 2015 के बीच हुए 14 करोड़ के इस घोटाले की जांच अब ईडी भी करेगा।

बताया जाता है कि ईडी चार स्वयंसेवी संगठनों को नाटिस जारी करेगा। वह लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के अधिकारियों से भी पूछताछ करेगर। इस घोटाले की ईडी जांच में कई सफेदपोश लोगों की गर्दन फंस सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here