मंदसौर गैंगरेप:- चैकाने वाला खुलासा, बच्ची पर हैवानियत बरपाने को लेकर की थी पूरी प्लानिंग

mandsaur-rape
mandsaur-rape
Advertisement

इंदौरं। एमपी के मंदसौर में हुए एक और निर्भया कांड में बड़ा खुलासा हुआ है। मध्य प्रदेश के मंदसौर में सात साल की मासूम के साथ हुए इस विभत्स कृत में पुलिस ने खुलासा करते हुए कहा है िकइस पूरे वारदात को लेकर आरोपियों ने पूरी प्लानिंग पहले ही की थी। मामले में अबतक की कार्रवाइ्र में ये बात सामने आई है कि दोनो आरोपी लंबे समय से स्कूल के मासूम बच्चों पर नजर जमाए हुए थे। पुलिस की जांच में इस बात में खुलासा हुआ है कि आरोपियों ने पीड़ित मासूम का चुनाव जानबूझकर कर किया। अपराधी यहीं चाहते थे कि वे जिस को भी अपना शिकार बनाए वो कम उम्र की हो और रेप का विरोध न कर सके। बतता दे कि निर्भया कांड के बाद ये देश का दूसरा उतना हीं विभत्स रेप कांड है। इस गैंगरेप कांड ने एउक बार फिर से पूरे देश को हिला कर रख दिया है।

इस मामले को लेकर लांगो में गंस्सा देखा जा रहा है। दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग करते हुए लोग सड़को पर उतर आए हैं। बता दे कि इस मामले मे कल कार्रवाई करते हुए शुक्रवार को मंदसौर पुलिस ने इस मामले में दोषी दूसरे आरोपी को दबोच को भी दबोच लिया है। पुलिस पूछताछ में पहले आरोपी इरफान ने बताया है कि बच्ची से रेप की वारदात में उसके साथ मंदसौर के मदरपुरा का रहने वाला आसिफ भी शामिल था।

mandasaur-rape
mandasaur-rape

हॉस्पिटल में जिंदगी की जंग लड़ रही बच्ची की सर्जरी की गई है। बच्ची की मां ने बताया है कि वह बातचीत कर रही है और खाने को मांग रही है। पुलिस ने अपने चैंका देने वाले खुलासे में बताया कि आरोपियों ने बच्ची के बर्बरता की पूरी प्लानिंग की थी. इतना ही नहीं, आरोपियों ने गैंगरेप के बाद काफी देर उन वस्तुओं की तलाश की जिससे उसके प्राइवेट पार्ट्स को नुकसान पहुंचाया जा सके. गला काटने के बाद दोनों आरोपी कथित रूप से शराब पी रहे थे, जबकि बच्ची का खून बह रहा था।

ये भी पढ़े  पटना-हटिया पाटलिपुत्र एक्सप्रेस रोक ट्रेन मे घुसे अपराधी, जमकर की लूटपाट

पुलिस ने किया ये खुलासाः- एसपी मनोज सिंह ने दूसरे आरोपी के संबंध में बताया कि एक स्कूली बच्चे ने लड़की का अपहरण करने वाले दूसरे आरोपी को देखा था जो नारंगी रंग की टी-शर्ट पहने हुए था. सीसीटीवी फुटेज में इरफान नीले रंग की शर्ट पहने नजर आया था. जांच के दौरान इरफान ने स्वीकार किया कि उसने अपने मित्र आसिफ के साथ मिलकर इस हैवानियत को अंजाम दिया। हमने उसे तत्काल गिरफ्तार किया।

उन्होंने बताया कि शाम करीब 5 बजे आसिफ स्कूल के गेट के पास घूमने लगा और मासूम बच्ची पर नजर रख रहा था उसने कैंडी और स्नैक्स देकर बच्ची को लालच दिया कि यदि वह उसके साथ चलेगी तो और ज्यादा खाने को मिलेगा. इसके बाद बच्ची आसिफ के साथ चल दी और बाद में इरफान भी उसके साथ मिल गया. वे लोग बच्ची को एक सुनसान जगह पर ले गए और करीब दो घंटे तक गैंगरेप किया।

मामले को लेकर सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने आरोपियों को दरिंदा बताया और कहा कि ये दरिंदे धरती पर बोझ हैं, ये धरती पर जीवित रहने के लायक नहीं हैं. आगे उन्होंने कहा कि रेप के मामलों में हमने प्रदेश में फास्ट ट्रैक अदालत में कार्यवाही करने के प्रावधान किये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here