दरभंगा के Pacific Institute की तरफ से छात्रों को दीवाली का खास संदेश

Pacific institute darbhanga
Pacific institute darbhanga

अमावस्या के अंधकार में दीप जलाये जाते हैं, वैसे ही मनुष्य का प्रारब्ध चाहे कैसा भी हो, गुरुज्ञानरूपी प्रकाश और अपने पुरुषार्थ के द्वारा वह अपने अंधकारमय जीवन को प्रकाशमय कर सकता है।

Advertisement

 

दरभंगा के Pacific Institute की तरफ से छात्रों को यही संदेश दिया गया है। pacific Institute के निदेशक कहते हैं कि दीपावली के दिन आप अपने घर तो दीया जलाओ लेकिन आस-पड़ोसवाले गरीब का भी ध्यान रखो, वहाँ भी 4 दीये जलाकर आओ । बच्चों को कपड़े बाँटकर आओ, मिठाई दे आओ । छोटे-से-छोटे व्यक्ति को स्नेह से मिलो और अपना बड़प्पन भूलो । जैसे आम के वृक्ष में फल लगते हैं तो झुकता है और बबूल का वृक्ष फलित होता है तो भी काँटों से लदा रहता है, ऐसे ही जिसके जीवन में धर्म है, संस्कार हैं, उसके जीवन में नम्रता, सरलता, सहनशक्ति, उदारता आदि सद्गुण आते हैं और जो अधर्म एवं कुसंस्कारों के आश्रित है, अहं की अकड़ से दूसरों को परेशान करता है व खुद भी होता है उसका जीवन दुर्गुणरूपी काँटों से लद जाता है ।

मनुष्य-जीवन की माँग है कि उसे खुशी चाहिए, पुष्टि चाहिए, प्रकाश चाहिए, सहानुभूति एवं  स्नेह  चाहिए ।  दीपावली  स्नेह  का  निमित्त उत्पन्न करती है, प्रकाश और पुष्टि का निमित्त उत्पन्न करती है। एक बार फिर से सभी छात्रों के स्वर्णिम भविष्य की मंगलकामना करते हुए दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं..शुभ दीपावली