सृजन घोटाला: असिस्टेंट बैंक मैनेजर ने किया सरेंडर, अब तक इतने मैनेजर भेजे जा चुके हैं जेल

Advertisement

वर्ष 2003 से 2014 के बीच हुए करीब एक हजार करोड़ के सृजन घोटाले के खुलासे से नितीश सरकार की काफी किरकिरी हुई थी। इस केस के आरोपियों में शामिल बैंक ऑफ बड़ौदा (भागलपुर शाखा) के सहायक प्रबंधक सरफराजुद्दीन ने मंगलवार को पटना में सिविल कोर्ट परिसर स्थित विशेष अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। आपको बता दें कि घोटाला में अवैध तरीके से हुए करोड़ों के कैश ट्रांजेक्शन व अन्य वित्तीय हेराफेरी में सरफराजुद्दीन की भूमिका रही है।

सीबीआई के विशेष न्यायधीश अजय कुमार श्रीवास्तव ने उन्हें न्यायिक हिरासत में लेते हुए अगले तीन अक्टूबर तक के लिए बेउर केंद्रीय जेल भेज दिया। इससे पूर्व जांच टीम ने आरोपी मैनेजर के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दायर कर दी थी। साथ ही उनकी तलाश में दबिश बढ़ा दी गई थी। ख़बरों के मुताबिक मुताबिक हाइकोर्ट में जमानत की अर्जी खारिज होने के बाद सीबीआई की नजरों से बचते हुए आरोपी मैनेजर ने सरेंडर कर दिया।

गौरतलब है कि अब तक सृजन घोटाले से जुड़े 10 मामलों में सीबीआई आरोप पत्र दायर कर चुकी है। मामले में बीते 10 दिनों में तीन बैंक मैनेजर जेल जा चुके हैं।