मिलिए बिहार के ’लाफिंग बुद्धा’ से , रोज 100 से अधिक लोगों को हंसाते हैं ये बाबा!

baba-know-as-laughing-buddh
baba-know-as-laughing-buddh
Advertisement

सीवान। आपने ये तो सुना होगा की हसना सबसे बड़ा मेंडिसीन है। हसने से हमेंशा आदमी हेल्दी रहता है। लेकिन किसी को हंसाना भी एक बड़ा हुनर है। ऐसे हुनर वाले बहुत ही कम मिलते है। आज के दिनो में टीवी पर आपको बहुत से हंसाने वाले शो देखने को भी मिलते हैं। लेकिन क्या टीवी से चिपके रहना पाॅसिब्ल है, नही न।

ऐसे में अगर कोई अगर आपके पास रहे जो आपको हंसाता रहे तो कैसा रहेगा ।लेकिन बहुत कम ही लोंगो ऐसे कामो को करते हैं। ऐसे ही एक व्यक्ति हैं युवा बाबा नागेश्वर दास हैं। वैसे तो बाबा आम तौर पर देशभक्ति गीत गाने के लिए लोंगो के बीच जाने जाते हैं, लेकिन बाबा को लोंग एक और नाम से जानते है।

baba-nageshwar
baba-nageshwar

सीवान के लोंग बाबा नागेश्वर दास को ’इंडियन लॉफिंग बुद्धा’ के नाम से जानते हैं। ऐसा इस लिए क्यो की बाबा पिछले 20 साल से लोगों को अपने खास अंदाज से हंसा हंसाकर लोट-पोट करने काम करीते हैं। इनकी हंसी के कारण लोग इन्हें इस नाम से जानते है। बाबा लोंगो के घरांे, मकानों और दुकानो में जाकर उन्हे हंसाते है।

अपने इस हुनर को बाबा बखूबी लोंगो को खुश करने के लिए अजमाते हैं। ये युवा बाबा हंसी को एक ऐसा मंत्र मानते हैं जो लोगों को बीमारियों से बचाता है। बाबा नागेश्वर दास कहते है कि इंसान के चेहरे पर हंसी आने से दुनिया के सारे बोझ, सभी दर्द दूर हो जाते हैं।बाबा का कहना है कि सिर्फ खुशी व हंसी के अभाव में ही लोग बीमारियों से जकड़ जाते हैं। चिकित्सक की भी माने तो हंसी ही एक ऐसा मंत्र है जो लोगों को ढेर सारी गंभीर बीमारियों से बचाय रखता है।

जैसा की हमने आपको बताया कि बाबा काॅमेंडियन के साथ-साथ एक गायक भी है। तो आपको बता दे कि बाबा का एक गीत यूट्यूब पर इन दिनो खूब छाया हुआ है। बाबा का एक प्रसिद्ध गीत हैं ’मैं बिहार हूं’। बाबा नागेश्वर दास अपने इस गाने के बारे में बाताते हैं कि यह गीत सभी बिहारियों के सम्मान से जुड़ा हुआ गीत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here