मस्जिद में अजान और चर्च में प्रार्थना के लिए लाउडस्पीकर पर बैन लगा दिया इस देश ने

azaan-and-prayer-on-whatsapp
azaan-and-prayer-on-whatsapp
Advertisement

सोशल मीडिया के माध्यम से कई लोग धर्म के नाम पर ध्वनि प्रदूषण को लेकर अपनी आपत्ति जाहिर करते रहते हैं। बॉलीवुड के मशहूर गायक सोनू निगम ने जब अजान के लिए लाउडस्पीकर का इस्तेमाल नहीं किए जाने को लेकर बयान दिया था तो अपने देश में भी इस बात को लेकर एक लंबी बहस छिड़ गई थी। सोनू निगम के पक्ष में भी कई लोग सामने आए और बहुत सारे लोगों ने इस बात को लेकर उनकी जमकर आलोचना भी की। कई सारे ऐसे लोग भी हैं जिन्हें जागरण या अन्य धार्मिक कार्यक्रमों के दौरान लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर अक्सर आपत्ति जताते रहते हैं। वहीं दूसरी तरफ कई लोग इसे धार्मिक आजादी में दखलंदाजी मानकर चलते हैं। खैर ये तो बात हुई अपने देश की, आपको जानकर हैरानी होगी की एक देश ने अपने यहां मस्जिदों में अजान पढ़ने और चर्च में प्रार्थना के लिए लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर बैन लगाने का फरमान जारी कर दिया है।

ये भी पढे़ं:-   यहां आप 10 रूपये देकर बना सकते है गर्लफ्रेंड , और अपने खालीपन को कर सकते है दूर
घाना में अजान और चर्च में प्रार्थना के लिए लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर बैन
घाना में अजान और चर्च में प्रार्थना के लिए लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर बैन

धर्म से जुड़ी खबरों के लिए मशहूर www.religionworld.in में छपी एक खबर के मुताबिक अफ्रीकी देश घाना की सरकार ने मस्जिदों और गिरिजाघरों के लिए एक अनोखा फरमान जारी कर दिया है। घाना की सरकार ने मस्जिदों और चर्च में लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर बैन लगाने का आदेश जारी कर दिया है। अब सवाल ये उठता था कि प्रार्थना के लिए लोगों को कैसे बुलाया जाए तो इसका समाधान निकालते हुए घाना की सरकार ने लाउडस्पीकर की बजाय व्हाट्सएप मैसेज का इस्तेमाल करने का सुझाव दिया है।

घाना की सरकार का मानना ये है कि धार्मिक स्थलों पर एक साथ बहुत ज्यादा लोगों के एकत्रित हो जाने की वजह से ट्रैफिक की व्यवस्था भी चरमरा जाती है। इसके अलावा चर्च की घंटियों और मस्जिदों में पढ़ी जाने वाली अजान से ध्वनि प्रदूषण भी काफी बढ़ रहा है। घाना की सरकार का मानना है कि इस आदेश के बाद से मस्जिदों और चर्च के आसपास रहने वाले लोगों को बहुत राहत मिलेगी।

ये भी पढे़ं:-   'जानिए बिहार में कितने एटीएम है 'और कितने एैसे "एटीएम" है जिनसे कभी नहीं निकते हैं नोट
घाना में चर्च में प्रार्थना के लिए लाउडस्पीकर पर बैन
घाना में चर्च में प्रार्थना के लिए लाउडस्पीकर पर बैन
Advertisement

वहीं दूसरी तरफ इस आदेश के जारी होने के बाद से घाना में रहने वाले मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इसका विरोध करना शुरु कर दिया है। मुस्लिम समुदाय से जुड़े इमाम का कहना है कि मस्जिदों में पांच वक्त अजान दिया जाता है तो ऐसे में पांच-पांच बार मैसेज भेजना होगा। इसके अलावा मस्जिद में काम कर रहे इमाम भी बेरोजगार हो जाएंगे क्योंकि सारा काम तो मैसेज के माध्यम से ही हो जाएगा। मुस्लिम संगठनों ने घाना की सरकार से अपने इस फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की है।

ये भी पढे़ं:-   यहां आप 10 रूपये देकर बना सकते है गर्लफ्रेंड , और अपने खालीपन को कर सकते है दूर

Advertisement