08, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

जानिए मोदी से पहले किस प्रधानमंत्री ने बड़े नोट बंद करने का लिया था कठोर फैसला ?

fm-arun-jaitley-to-inaugura

newsofbihar.com डेस्क, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक इतना बड़ा फैसला लिया जिसके बारे में देशवासियों ने कल्पना तक नहीं की थी। 500 और 1000 रुपये के नोट को बंद करने का अचानक फैसला से पूरा देश अचंभित है। ब्लैक मनी यानि कालाधन पर नकेल कसने में प्रधानमंत्री मोदी का ये फैसला आने वाले दिनों में बहुत कारगर साबित हो सकता है। लेकिन हम आपको बता दें कि इस देश में नरेंद्र मोदी से पहले एक और प्रधानमंत्री ने इसी तरह का फैसला रातोरात लेकर सबको चकरा दिया था। हम बात कर रहे हैं देश के पहले गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री मोरार जी देसाई की। इंदिरा गांधी के हाथों से सत्ता की बागडोर संभालने वाले मोरारजी देसाई ने 1977 में 100 रुपये से ऊपर के तमाम बड़े नोटों को बंद करने का ऐलान करके सबको सकते में ला दिया था। जानकारों की माने तो उस वक्त भी कई धन्ना सेठों की काली कमाई बर्बाद हो गई।
morarji-desai-1

हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जल्द ही 500 और 2000 के नए नोटों को जारी करने वाला है। लेकिन 1000 के नोट की पूरी तरह से विदाई हो गई है। हम आपको बता दें कि साल 1954 में रिजर्व बैंक ने सबसे पहली बार 1000 के नोट को जारी किया था ।लेकिन मोरारजी सरकार ने 1000 के नोट पर बैन लगा दिया था। इसके बाद साल 2000 में 1000 के नोट को फिर से जारी किया गया लेकिन 16 साल बाद एक बार फिर से हजार के नोट अब इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गए।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

5 विचार साझा हुआ “जानिए मोदी से पहले किस प्रधानमंत्री ने बड़े नोट बंद करने का लिया था कठोर फैसला ?” पर

  1. Ranjan Singh November 9, 2016

    Narendra modi ko badhai

  2. राजेश कुमार मिश्र November 10, 2016

    ये अच्छा फैसला है मोदी साहब का मैं तो इतना तक सोच लिया की जब तक मई जिन्दा रहूँ मोदी जी की ह सरकार बने मैं मोड़ जी का भक्त हूँ और मई मोदी जी को चरण स्पर्श प्रणाम करता हूँ

  3. GOUTAM KUMAR PANDIT November 12, 2016

    MAN RUPE DARPAN PER ACHAY BURAY KARMO KA PRATIBIMB DEKHAI PARTA HI “ATHA” DIL KO HAMASA SAAF RAKHANA CHAIA JO KIE HAMARA SHRI NARENDRA MODI JE NA KIYE

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME