07, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

पॉर्न साइट के नाम पर भी बिहार को बदनाम करने की साजिश ? बदनाम करने वाले इन आंकड़ों पर एक नजर डाल लें !

porn-site-users-no-1-patna

newsofbihar.com डेस्क पटना, 18 अक्टूबर। बिहार को एक बार फिर बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है। पहले तो अपराध और कानून व्यवस्था के नाम पर बिहार को निशाना बनाया जाता रहा लेकिन इस बार तो पॉर्न साइट के नाम पर ही बिहारियों को बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है। रेलटेल के दावों के मुताबिक इस बार कहा जा रहा है कि रेलवे की ओर से पटना स्टेशन पर चलाई जा रही वाई फाई सुविधा के तहत बिहार के लोग सबसे अधिक पोर्न साइट्स देख रहे हैं। प्रश्न उठता है कि क्या पोर्न साइट्स देखना गलत है? क्या दूसरे राज्यों के लोग पॉर्न साइट्स नहीं देखते हैं? क्या अब इस बात पर दखलअंदाजी की जाएगी कि लोग नेट पर क्या देखें और क्या न देखें? हम आपके सामने उन आंकड़ों को भी रखेंगे जिसके मुताबिक पॉर्न साइट देखने में बिहार के मुकाबले कई और राज्यों के लोग काफी आगे हैं।

इस मामले में पटना स्टेशन से डेली ट्रेवल करने वाले अनिकेत, रश्मि प्रिया, सुजाता, सुमन सहित अन्य यात्री कहते हैं कि कि वर्तमान समय में किसी भी साइट को खोले जाने पर पोर्न साइट्स का लिंक आसानी से उपलब्ध हो जाता है। कभी-कभी तो क्लिक नहीं करने के बाद भी पोर्न साइट्स अपने आप ओपन हो जाता है। उदाहरण केे लिए मात्र स्टोरी सर्च करने पर ही पोर्न साइट्स का आंबार सामने आ जाता है। ऐसी परिस्थिति में हम बिहारियों को पोर्न साइट्स यूजर नं 1 कह बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है।

याद दिला दे कि रेल विभाग की ओर से जारी डाटा के अनुसार पटना स्टेशन पर सर्वाधिक नेट यूज किए जा रहे हैं। बताते चले कि रेलवे ने देश के कुल 23 रेलवे स्टेशनों पर फ्री वाई-फाई सुविधा आरम्भ की थी।

क्या कहती हैं सर्विस प्रोवाइडर रेलटेल के अधिकारी

-फ्री वाई-फाई सुविधा का सबसे अधिक प्रयोग हो रहा पटना स्टेशन पर।
-सबसे ज्यादा पॉर्न साइट्स को किया जा रहा सर्च।
-पटना के बाद इंटरनेट प्रयोग करने में जयपुर रेलवे स्टेशन का है दूसरा, बेंगलुरु तीसरा और दिल्ली रेलवे स्टेशन का चैथा स्थान।

अब आप इन आंकड़ों पर एक नजर डाल लीजिए। नवंबर 2014 में इंडिया टूडे में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक सबसे मशहूर एडल्ट एंटरटेनमेंट वेबसाइट पॉर्न हब के सर्वे की रिपोर्ट को प्रकाशित किया गया था। इस सर्वे के मुताबिक राजस्थान, पंजाब, दिल्ली और पूर्वोत्तर राज्यों के लोग सबसे अधिक पॉर्न साइट्स पर समय खर्च करते हैं। इसी सर्वे के दावों के मुताबिक देश भर में 7.32 पेज प्रति सेशन औसतन पॉर्न वेबसाइट देख रहे हैं और मिजोरम और दिल्ली में ये 8 पेज प्रति सेशन है। सर्वे के मुतािक जो चौंकाने वाला आंकड़ा सामने आया उसके मुताबिक पॉर्न साइट देखने वालों में एक चौथाई महिलाएं हैं। अब आप ही तय कीजिए की इस सर्वे के मुताबिक तो बिहार का कहीं कोई स्थान नहीं है लेकिन फिर भी बदनाम करना है तो बिहार का नाम ले लो। हमारा अब भी यही मानना है कि पॉर्न वेबसाइट देखना या नहीं देखना ये आपका या किसी की मर्जी पर निर्भर करता है फिर इस बात को इतना तूल देने की क्या जरूरत?

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME