08, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

बीच सड़क पर पति ने कहा तलाक तलाक तलाक… तो पत्नी ने किया ये

patni-ne-ki-pati-ki-pitai

डेमो फोटो

भागलपुर, 11 नवंबर। खलीफाबाग में गुरुवार शाम शौहर को उसकी प्रेमिका के साथ बाजार में देख बीबी भड़क गई। माशूका के साथ पकड़े जाने पर पहले तो शौहर ने ट्रिपल तलाक का फार्मूला अपना कर बला टालनी चाही लेकिन हुआ ठीक उल्टा और बीवी ने उसकी बीच सड़क पर ही जम कर पिटाई कर दी। इसी बीच वहां से गुजर रहे राहगीरों ने बीबी को बचाते हुए उसके शौहर की जमकर धुनाई की। इस बीच प्रेमिका वहां से भाग निकली। शौहर भी जान बचाकर वहां से भागा।

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि समस्तीपुर की रहने वाली सलमा का करोड़ी बाजार के मो. छोटू से तीन साल पहले निकाह हुआ था। मो. छोटू पहले छोटा-मोटा धंधा करता था। इसी बीच उसका संबंध किसी गैर महिला से हो गया और छोटू ने अपनी पत्नी से दूरी बनना शुरू कर दिया। सलमा ने कहा कि गुरुवार सुबह उसने शौहर को उस महिला के साथ आपत्तिजनक अवस्था में देखा था, जिसे लेकर घर में झगड़ा हुआ था। इसके बाद जब वह बाजार जा रही थी उसी समय उसने अपने पति को उस महिला के साथ देख ली। जिसके बाद महिला पति के पास गई और उन्हें एक थप्पड़ लगा दी। इसी बीच छोटू अपने पत्नी से बीच बाजार में गाली गलौज करने लगा और वह तीन तलाक बोल दिया।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

8 विचार साझा हुआ “बीच सड़क पर पति ने कहा तलाक तलाक तलाक… तो पत्नी ने किया ये” पर

  1. अनिल कुमार निगम November 13, 2016

    जो भी कोई इस घटना की भर्त्सना करेगा वो चड्डी गैंग, बजरंग दल, या हिन्दु सामप्रदायिक कहलाएगा, कोई भी सेक्युलर तो इस पर मुंह खोलने से रहा। ये वास्तविकता है मुस्लिम समाज की, स्त्रीयों की दुर्दशा की मगर हर मुसलमान इस पर प्रतिकार करने को कुफ्र समझता है, जिसका अर्थ होता है कुफ्र और वो काफिर हो जाता है याने मौत का हकदार।

  2. R S Gupta November 13, 2016

    देखा जाय तो हिन्दुस्तान की नारी बहुत ही मर्यादित और सहनशील स्वभाव की होती है। लेेकिन उसकी अस्मिता मे आंच आये तो दुर्गा का रूप धारण कर लेती है यहां धर्म और मजहब सब भूलजाता है। यह भी पृत्यछ उदाहरण है सोच और बदलाव का । जििसके सामने जिन्दगी का अन्धेरा दो ही पल मे सामने दिखाई पडे उसे क्या सही है क्या गलत है विवेक काम नही करता । इन कुरीतियों का हल मुस्लिम समाज को वक्त रहते ूूढ ढ लेना ही चाहिये था। नही तो आने वाला समय और खराब होने वाला होगा।

  3. रमण कुमार त्रिवेदी November 13, 2016

    पीड़ित महिला ने जो कुछ किया कादिल-ए-तारीफ़ काम किया।मैं उसकी हिम्मत की दाड देता हूँ।अन्य महिलाओं को इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए और अपने उपर होने वाले किसी भी अनाचार का इसी तरह प्रतिकार करें,तभी तो कोई मदद को हाथ बढाएगा।

  4. राहुल सिंह November 14, 2016

    गलत तरीके से अपनी क्षणिक अय्याशी को परिपूर्ण करने हेतु किये गलत निर्णय की सजा इससे भी बिभत्स मिलनी चाहिए ।जिससे इंसानियत के कलंको को भी कलंकित करने वाले इंसानों की सजा को देखकर कोई भी व्यक्ति ऐसी गलती न करे ।

  5. ASHOK KUMAR November 14, 2016

    women sahi kadam uthae hai

  6. ramchandra.rajak November 14, 2016

    all money you,plan,do works

  7. Ramavtar Sharma November 15, 2016

    Bilkul Sahi hai

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME