डर से 10 साल का दूल्हा अपनी 6 साल की दुल्हनियां को छोड हुआ फरार, जानिए पूरा मामला

BRIDE
BRIDE
Advertisement

पटना: दस साल के दूल्हे की छह साल की दुल्हन से शादी कराई जा रही थी कि पुलिस पहुंच गई, जिसे देखकर दूल्हा फरार हो गया। पुलिस ने लड़का-लड़की के परिजन समेत शादी कराने वाले पंडित और बैंड पार्टी से जुड़े लोगों को हिरासत में ले लिया। एेसी एक नहीं दो शादियां हो रही थीं जिसे पुलिस ने रोककर कुल 17 लोगों को हिरासत में लिया है।

घटना जमुई जिले के खैरा थानाक्षेत्र की है जहां शनिवार देर शाम को पुलिस ने दो नाबालिग जोड़ों की शादी रोक दी है। जानकारी के अनुसार खैरा थाना क्षेत्र की गरही पंचायत के तेतरियाटांड़ गांव में हरि यादव व पैरा यादव अपने-अपने नाबालिग बेटे की शादी कर रहे थे। पुलिस ने दोनों जगहों पर छापेमारी की। थानाध्यक्ष दलजीत झा ने बताया कि दोनों घरों से बारात निकालने की तैयारी की जा रही थी।

bride
bride

Advertisement

हरि यादव के दस वर्षीय पुत्र की शादी हडख़ार पंचायत के चननवर गांव की छह वर्षीया लड़की से होनी थी। छापेमारी के क्रम में नाबालिग दूल्हा भाग निकला। पुलिस को आशंका हुई कि बिना बारात के भी शादी की रस्म पूरी की जा सकती है।

एहतियातन पुलिस ने चननवर में छापेमारी कर वहां से सात लोगों को पकड़ा। पकड़े गए लोगों में लड़की के मामा, फूफा व दादा समेत पंडित भी शामिल हैं। लड़के के नाना, बाबा, चाचा, फूफा समेत बैंड बजाने वाले अंशु तूरी व शंकर तूरी को भी हिरासत में लिया गया।

दूसरे मामले में पैरा यादव के पुत्र की बारात नवादा जिले के कौवाकोल थाना क्षेत्र में जानी थी। यहां पुलिस ने नाबालिग दूल्हे को हिरासत में ले लिया। बाद में दोनों पंचायतों के प्रतिनिधियों की पहल पर एसडीओ द्वारा प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में बांड भरवाकर परिजन व अन्य लोगों को छोड़ा गया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस के इस कदम से समाज में बाल विवाह के खिलाफ कठोर संदेश जाएगा। इसके पहले भी दस जनवरी को खैरा की एक नाबालिग की शादी पुलिस ने रोकी थी।

Advertisement