27 जुलाई, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

नीतीश कुमार का निश्चय यात्रा हवा हवाई है: बेदारी कारवां

baithak-860x424

दरभंगा, 18 नवम्बर। ऑल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवाँ की एक बैठक कार्यालय लालबाग दरभंगा में दिन के 1-30 बजे हुई। बैठक की अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष नजरे आलम ने किया। बैठक में कारवाँ के उपाध्यक्ष मकसूद आलम खान, महासचिव विजय कुमार झा, मिर्जा नेहाल, शाह इमादुद्दीन सरवर, असद रशीद नदवी, कुद्दुस सागर, सिकन्दर खान, जावेद करीम जफर, सरवर अली फैजी आदी बड़ी संख्या में कार्यकत्ता उपस्थित हुए। बैठक में नीतीश कुमार के दरभंगा निश्चय पर चर्चा हुई। बैठक को सम्बोधित करते हुए नजरे आलम ने कहा कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार दरभंगा में कल रात से ही पधारे हुए हैं। लेकिन जनता को इसकी सूचना नहीं है। जिससे साबित होता है कि नीतीश भी हवा हवाई में ही अपनी सफलता यात्रा को दिखावे के लिए कर रहे हैं।

हां ये बात सही है कि उन्होंने महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान का उद्घाटन समेत कई कार्यों का समीक्षा भी किया। लेकिन जहाँ तक गठबंधन का मामला है तो अब इनके गठबंधन की कोई लहर देखने को नहीं मिल रही है खटास साफ नजर आ रहा है। क्योंकि जिस सरकार का मुखिया जिला में पधारे और वहाँ की जनता को खबर ही न हो यह गठबंधन के लिए दुर्भाग्य है। आलम ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने निश्चय यात्रा के दौरान बिहार की जनता को बताना चाहते हैं कि हमने जो वादा किया वह पूरा कर रहे हैं लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है।

खास कर दरभंगा में तो इनका संगठन पूरी तरह जमीन पर दिखता ही नहीं है बल्कि सबसे कमजोर कहा जा सकता है। इनके जो भी नाम नेहाद नेता हैं वह भी नीतीश कुमार की तरह ही हवा हवाई में जनता को मुर्ख बनाने का काम करते हैं। आज भी अल्पसंख्यक एवं दलित अपने विकास का रोना रोते दिखाई पड़ रहे हैं जो नीतीश कुमार को नहीं दिखता है। आज की यह बैठक नीतीश कुमार के कार्यकाल में बिहार कितना विकसित राज्य बना और अल्पसंख्यकों और दलितों को इन्होंने अपनी सरकार में कितना आगे बढ़ने का अवसर दिया और विकास के लिए कौन कौन सी योजना को जमीन पर लाकर इनका विकास किया है उसपर विस्तार से चर्चा की गई और पटना में आॅल इडिडया मुस्लिम बेदारी कारवाँ के तत्वाधन में होने वाले ‘‘मुस्लिम महारैला’’ की तैयारी पर भी बात हुई और सर्वसम्मती से यह निर्णय लिया गया कि अगर नीतीश कुमार ने अल्पसंख्यकों और दलितों के विकास कार्य में ईमानदारी के साथ काम शुरू नहीं किया तो 2019 में इनकी सरकार नहीं बनने देंगे। जिसकी शुरूआत है पटना में इसी माह में होने वाला ‘‘मुस्लिम महारैला’’। बैठक को उपाध्यक्ष एवं महासचिव इत्यादी ने भी सम्बोधित किया। नजरे आलम ने अंतिम में नीतीश कुमार जी के निश्चय यात्रा को जनहित में नहीं बताया और यह भी कहा कि नीतीश कुमार ने दरभंगा को उद्योग में बहुत पीछे कर दिया है यहाँ किसी भी विकास की अगर बात करें तो मायुसी ही हाथ लगेगी। खासकर उद्योग को तो दरभंगा जिला से बिल्कुल ही समाप्त कर दिया गया है। कुछ उद्योग के एरिया को तो प्रशासन के दलाल कब्जा किए हुए हैं और कुछ कई सालों से ताला से ही जकड़ा हुआ है। जबकि सरकार अगर जनहित में ईमानदार होती तो दरभंगा में बन्द पड़े जितने उद्योग के अवसर हैं अगर उसको ईमानदारी से सरकार चालू कर दे तो दरभंगा से एक भी व्यक्ति बाहर रोजगार के लिया नहीं जायगा। नीतीश जी का यह निश्चय यात्रा बिल्कुल हवा हवाई है।

ये भी पढे़ं:-   दरभंगा: नगर निगम चुनाव की अधिसूचना जल्द होगी जारी

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME