बिहार विधानसभा मे पेश हुआ 2 लाख 501 करोड़ का बजट, जानिए क्या कुछ रहा बजट में खास

Advertisement

सेंट्रल डेस्क,साहुल पाण्डेय: बिहार सरकार ने आल विधानसभा में अपना इस साल का बजट पेश किया है। बिहार के उप मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने इस बजट को पेश किया। इस बार के बजट को लेकर सबसे बड़ी बात यह रही है कि इसका आकार पहले से सात गुना बढ़ा हो गया है। वहीं इस बजट में चार माह का लेखानुदान शामिल है. इस बार के बजट को लेकर अगर बात करें तो बिहार के विकास पर होनेवाले खर्च का आकार 22 गुणा बढ़ा है। 2005-06 में एनडीए की सरकार बनने से पहले ये आकार केवल 4379 करोड़ रुपये का था। इस बार सरकार की ओर से लगभग दो लाख 501 करोड़ रुपये का बजट बिहार के विकास के लिए विधानसभा में पेश किया गया है।

बिहार सबसे ज्यादा ​शिक्षा पर करता है खर्च : मोदी

बजट पेश करने के दौरान सुशील मोदी ने कहा कि आज बिहार के मॉडल को कई राज्य फॉलो कर रहे हैं। उन्होने इस बात पर भी जोर दिया कि बिहार की आर्थिक व्यवस्था पहले से कई बेहतर और कई अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर हुई है। रेटिंग एजेंसी क्रिसिल की रिपोर्ट में भी इस बात का जिक्र, आंध्र और तेलंगाना समेत केरल भी हमसे पीछे हैं. उन्होंने आगे कहा कि बिहार की विकास दर रोजगार पैदा करने वाले क्षेत्रों में अन्य राज्यों से कही बेहतर है। उन्होंने बताया कि बिहार का खुदरा महंगाई दर 2.7 है। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि 2013 की तुलना में आज बिहार के महंगाई दर में भारी गिरावट आई है। अपने बजट के दौरान शिक्षा का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि ‘बिहार शिक्षा के क्षेत्र में सबसे ज्यादा खर्च करता है।

क्या—क्या रहा आज के बजट में खास :—

—पंचायती राज विभाग का बजट 12206.31 करोड़
—नगर विकास एवं आवास का बजट 5158.79 करोड़
—भवन निर्माण का कुल बजट 5375.06 करोड़ रुपए
—समाज कल्याण विभाग का बजट 7037.73 करोड़
—विश्व की सबसे बड़ी बालक/ बालिका साइकिल योजना योजना के तहत 20119- —20 के बजट में 292 करोड़ रुपए का प्रावधान
—स्थापना और प्रतिबद्ध व्यय राशि 98962 करोड़
—ग्रामीण विकास का कुल बजट 15669.04 करोड़
—PHED विभाग को योजना मद में 3225.34 करोड़
—बिहार गृह विभाग का कुल बजट 10968.58 करोड़
—जल संसाधन विभाग का कुल बजट 9652.30 करोड़
—कृषि विभाग को योजना मद में 2259.8 करोड़
—राष्ट्रीय कृषि विकास मिशन के तहत 252 करोड़
—पथ निर्माण को योजना मद में 5936.92 करोड़
—ग्रामीण कार्य को योजना मद में 9896.97 करोड़
—बिहार में बड़े पैमाने पर हो रही नियुक्तियां, सिपाही भर्ती बोर्ड द्वारा 2019-20 में भी होगी भर्ती- सुशील मोदी

जो बिहार सोचता है, वही हिन्दुस्तान सोचता है’ बजट से हर वर्ग के लोगों को उम्मीद- वित्त मंत्री
बिहार में महँगाई दर में भरी गिरावट – सुशील मोदी
बिहार में बढ़ रही प्रति व्यक्ति आय- सुशील मोदी
वित्त वर्ष 2019-20 में केंद्र और राज्य सरकार द्वारा 11 मेडिकल कॉलेज खोले जायेंगे – सुशील मोदी
बिहार में 4 करोड़ से ज्यादा जनधन खाते खुले
ग्राम सड़क योजना पर खर्च होंगे- 2815 करोड़ रुपए
कृषि रोड मैप के मामले में देश में बिहार का स्थान 6वां – सुशील मोदी
हमने निशुल्क बिजली कनेक्शन उपलब्ध कराए – सुशील मोदी
देश में बिजली पहुचने के मामले में बिहार का 8वां स्थान – सुशील मोदी
सब्जी उत्पादन में देश में बिहार को तीसरा और फल में छठा स्थान, आम में पांचवे और केला में आंठवें स्थान पर है बिहार – सुशील कुमार मोदी

सुखाड़ और बाढ़ की समस्या के बाद भी हम लगातार आगे बढ़ रहे हैं – सुशील कुमार मोदी
2017 में हमने बाढ़ का मुकाबला किया और अब सुखाड़ का भी मुकाबला कर रहे हैं – सुशील कुमार मोदी

किसानों के लिए सरकार की घोषणा : वर्ष 2018-19 में सिंचाई के लिए 350 रू० प्रति एकड़ प्रति सिंचाई डीजल अनुदान को बढ़ाकर 500 रू० प्रति एकड़ प्रति सिंचाई कर दी गई है. इस वर्ष धान फसल के लिए 3 सिंचाई के बदले 5 सिंचाई तथा रबी मौसम में गेहूॅँ के लिए 3 के स्थान पर 4 एवं मक्का के लिए 2 के स्थान पर 3 सिंचाई के लिए डीजल अनुदान की स्वीकृति दी गयी.

पैक्सों के लिए 1692 करोड़ की योजना को मंजूरी दी गयी है.
बिहार में सबसे ज्यादा खर्च शिक्षा पर होता है. 34,798 करोड़ रुपये शिक्षा पर, 18 हजार करोड़ रुपये सड़क पर, 15,669 ग्रामीण विकास पर, 11 हजार करोड़ रुपये गृह विभाग पर खर्च किये जायेंगे. – सुशील मोदी
बिहार के 96 फीसदी किसान लघु या सीमांत, बिहार के किसान पीएम किसान पोर्टल पर निबंधन करा रहे हैं- सुशील कुमार मोदी
सीएम हरित योजना के तहत पैक्सों के लिए 1692 करोड़ की योजना को मंजूरी दी गई है- सुशील कुमार मोदी
बिहार में विकास दर 11 फीसदी दर हासिल करने के बावजूद कुछ लोगेां को नजर नहीं आ रहा विकास – सुशील मोदी
साल 2019-20 में 24 हजार 420 करोड़ रुपए का ऋण देने का प्रावधान रखा गया है- सुशील मोदी
केंद्रीय करों में राज्य की हिस्सेदारी बढ़ने की उम्मीद है- सुशील मोदी
सभी अपराधियों का रिकॉर्ड साथ ही तमाम जानकारी नेट पर, बिहार के 6105 गांवों में ऑप्टिक फाइबर बिछाया जा चुका है- सुशील मोदी
पीएमसीएच को 5540 करोड़ की योजना को स्वीकृति दी गई है – सुशील मोदी
पटना में सीसीटीवी लगाने के लिए 110 करोड़ स्वीकृत किये गये हैं – सुशील मोदी