10, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

कल से होगी ‘छठ पूजा’ आरंभ… जानें सूर्योदय-सूर्यास्त का समय !

chhath-puja-01

ज्ञानदीप गुप्ता की रिपोर्ट
कार्तिक माह में मनाई जाने वाली छठ पूजा कल से मनाई जाएगी। यह पूजा 4 दिनों तक की जाती है। इस पूजा में सूर्य को अर्घ्य देने का महत्व है। सुबह स्नान कर पूजन करने का यह पर्व शुक्रवार से प्रारम्भ हो रहा है। पर्व के अंतर्गत शनिवार को खरना मनाया जाएगा। रविवार को महिलाएं डूबते सूर्य को अर्घ्य देंगी। वहीं सोमवार को उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने के बाद व्रत का समापन किया जाएगा।

कल से यह खएंगी महिलाए
शुक्रवार शाम को छठ का व्रत रखने वाली महिलाएं नहाने के बाद भात, चने की दाल और लौकी की सब्जी खाएंगी। बृहस्पति वार से ही वे बिस्तर पर लेटना बंद कर देंगी और जमीन पर चटाई बिछाकर लेटेंगी। शनिवार को खरना का आयोजन होगा। इसके तहत साठी के चावल, गुड़ और गाय के दूध से खीर बनाया जाबगा। इसे खाने के बाद निर्जल व्रत की शुरूआत होगी। रविवार को अस्ता चलगामी यानी डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। सोमवार को उगते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद व्रत तोड़ा जाएगा।

यह है व्रत की विधि
छठ पूजा के लिए नदी या तालाब किनारे मिट्टी से सुशोभिता बनाई जाती है। फलों को सुपली या डलिया में 6,12 या 24 की संख्या में रखें। इसमें आप संतरा, अन्नास, गन्ना, सुथनी, केला, अमरूद, शरीफा, नारियल, साठी के चावल का चिउड़ा, ठेकुआ शामिल कर सकती हैं। मंगलवार को दूध, शहद, तिल और अन्य द्रव्य से डूबते हुए सूर्य को अघ्र्य दें। इसके बाद सुशोभिता की पूजा करें। मिट्टी की बनी कोसी में पूजा सामग्री रखकर उसपर चननी ताने। बुधवार की सुबह उगते हुए सूर्य को अघ्र्य देने के बाद व्रत का समापन करें और प्रसाद सभी को बांटे।

पूजा तिथि

नहाय खायः 04 नवंबर 2016 शुक्रवार
खरनाः 05 नवंबर 2016 शनिवार
संध्या अर्घ्य: 06 नवंबर 2016 रविवार
सूर्योदय अर्घ्य: 07 नवंबर 2016 सोमवार
पारणः 07 नवंबर 2016 सोमवार

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME