21 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

इस 16 साल के बिहारी बालक पर गर्व कर रहा है अमेरिका…रियो ओलंपिक में इतिहास रचेगा ‘कनक’

kanak-jha-pic

कनक झा ये वो नाम है जिसका परचम अमेरिका में लहरा रहा है। जी हां.. कनक झा जो महज 16 वर्षीय सबसे युवा खिलाड़ी हैं जिन्होंने रियो ओलंपिक में क्वालीफाई कर अमेरिका के लिए इतिहास रचने जा रहे हैं | रियो ओलंपिक को क्वालीफाई करना किसी भी एथलीट के लिए गर्व की बात है, लेकिन महज 15 साल की उम्र में रियो में क्वालीफाई कर अमेरिकी टेबल टेनिस खिलाडी कनक झा ने इतिहास कायम किया |

आपको बता दें कि कनक का जन्म अमेरिका में 2000 ई. में हुआ था, लेकिन वो स्वीडन में रह रहें हैं | कनक के पिता अरुण झा ओरेकल में काम करते हैं जबकि माँ करुना पहले सन माइक्रो सिस्टम में काम करती थी लेकिन अब वह अपना रेकी का सेंटर चला रही है | कनक झा कहते हैं “ओलंपिक में मैं सबसे युवा खिलाडी हूँ, ये मुझे मालूम नहीं था, लेकिन मेरे खेलने के समय ये मायने नहीं रखता और साथ ही उन्होंने हाल में ही जुलाई में अपने साथी खिलाडी यूजून फेंग को हराकर यूएस नेशनल पदक जीता है |
कनक के टीम में 6 खिलाड़ी और शामिल हैं और उन्हें उम्मीद है कि, कनक के आने से अमेरिका टेबल टेनिस का एक पदक जरूर जीत सकेगा |
कनक के अनुसार ओलंपिक खेल जगत में उनकी रुचि 2008 तथा 2012 में हो रहे ओलंपिक खेलों को टीवी पर देख कर बढ़ा तथा वो वही से प्रोत्साहित भी हुए | कनक ने कहा कि ओलंपिक खेलना उनका बड़ा सपना रहा है, तथा अमेरिका ने अभी तक कोई मेडल नहीं जीता, यह हमारे लिए सपने को सच करने के बराबर है | टेबल टेनिस इवेंट में चीन, दक्षिण कोरिया और जर्मनी का दबदबा रहा है | 1988 से चीन ने 47, दक्षिण कोरिया 18 और जर्मनी ने 5 मेडल जीते हैं लेकिन वर्ल्ड रैंकिंग में 272 नंबर पर मौजूद कनक का लक्ष्य रियो ओलंपिक में मेंस सिंगल्स में मेडल जीतने पर है |

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

ये भी पढे़ं:-   शरद को राज्यसभा सेे अयोग्य घोषित करवाने की पटना से दिल्ली तक की सियासी तिकड़म

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME