05, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

नवरात्रा पूजा के पहले दिन आज होगी मां शैलपुत्री की पूजा

10c

सरिता कुमारी

नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा और उपासना की जाती है। शैलराज हिमालय की पुत्री के रूप में जन्मी मां दुर्गा के इस रूप का नाम शैलपुत्री है। पार्वती और हेमवती इन्हीं के नाम है। मां की प्रतिमा स्थापित करने पर वहां आपदा और रोग आदि का खतरा नहीं रहता हैं जानिए इसके लाभनवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा होती है। मां के इस रूप की पूजा के साथ कई मान्यताएं जुड़ी हैं। शनिवार के दिन से इस बार नवरात्रि आरंभ हुआ है। नवरात्रि के विभिन्न दिन मां के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। पहले दिन मां के शैलपुत्री रूप की पूजा की जाती है। माना जाता है कि मां शैलपुत्री बैल की सवारी करती हैं। आइए देखें माता के शैलपुत्री रूप की पूजा से होने वाले लाभ के बारे में जाने।

मान्यता है कि माता शैलपुत्री की पूजा करने से मनुष्य निरोग रहता है। आपदाओं से मुक्ति मिलती है। मां की प्रतिमा स्थापित करने पर वहां आपदा और रोग आदि का खतरा नहीं रहता है। घर में खुशहाली आती है। मां शैलपुत्री की पूजा से भक्तों को धन वैभव, मान-सम्मान, प्रतिष्ठा भी मिलती है। महिलाएं अपने सुहाग की लम्बी उम्र की मनोकामना के लिए मां शैल पुत्री की पूजा कर नारियल और सुहाग के सामान चढ़ाती हैं। माता अपने भक्त के सभी कष्टों को हर लेती हैं।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME