04, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

मी लार्ड! मेरी बेटी को देते थे इलेक्ट्रिक शॉक, चुभोते थे सुइयां और….

gjhgkjhg

पटना, 21 नवंबर।मां बाप कलेजे पर पत्थर रखकर अपनी बेटी को दूसरे के हाथ में सौंप देते हैं। इसके बाद भी दहेज लोभियों का मन नहीं भरता है। आप ही बताये जब आप के जेब का पेन कोई मांगता है तो कितना मोह लगता है। जी हां हम बात कर रहे है कटिहार के बरमसिया इलाके की जहां एक रेलकर्मी की नवविवाहित बेटी की ससुराल वालों ने बेहरमी से हत्या कर दी।

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि उनकी बेटी गीता को उनके ससुराल वालों ने उसे रस्सी से बांधकर इलेक्ट्रीक शॉक दिया और उसके बाद हाथ में बड़ी-बड़ी सूईयां आर-पार चुभोई। जब वह बेदम हो गई तो इलेक्ट्रिक बर्न बताकर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां शनिवार की उसकी मौत हो गई। गीता के परिजनों के अनुसार गीता को करंट दिया गया था।

मृतका की फैमिली का आरोप है कि उसके पति के गांव के ही किसी महिला से नाजायज रिश्ते हैं। गीता के बायें हाथ की कलाई में सुई चुभाई गई थी, जो कलाई के आरपार है। पैर में रस्सी से बांधने के निशान थे। गीता की मां सुगली देवी ने उसके पति, सास, ससुर समेत ससुराल के लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कराया है। घटना के बाद से गीता का पति और ससुराल के लोग फरार हैं। गीता का ननिहाल भी भवानीपुर गांव में है, जिससे मायके वालों को घटना की जानकारी तुरंत मिल गई। लेकिन जब तक मायके वाले भवानीपुर पहुंचे। तब तक ससुरालवाले गीता को नवगछिया हॉस्पिटल ले जा चुके थे। हालत गंभीर देखकर गीता को वहां से भागलपुर मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल भेज दिया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। गीता के परिजनों का आरोप है कि जितेंद्र यादव का गांव के ही एक महिला से रिश्ते हैं। इस कारण अक्सर पति-पत्नी में झगड़ा होता था।

गीता के पिता रेलकर्मी जमुना यादव ने बताया कि मैं अपनी 20 साल की बेटी गीता की शादी इसी साल 28 अप्रैल को भवानीपुर के किराना दुकानदार जितेन्द्र यादव से बड़ी धूमधाम से की थी। वहीं गीता के मां का कहना है कि धूमधाम से गई इस शादी में उन्होंने आठ लाख रुपए खर्च किए थे। इसके बावजूद गीता को टीवी, फ्रिज की मांग को लेकर परेशान किया जाता था।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME