15 जुलाई, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

दुल्हे ने किया इनकार तो दुल्हन पहुंची बैंड बाजे के साथ ससुर के द्वार…. गजब लव स्टोरी

123456

पश्चिम चंपारण, 17 नवंबर। हमारे समाज में हमेशा से यह रीति चली आई है कि लड़के सेहरा बांध कर हमेशा लड़की के द्वार पर जाते हैं। लेकिन इस जिले के
बैरिया प्रखंड में लड़की बरात और बैंड बाजा के साथ लड़के के द्वार पर आई। जानकारी के अनुसार लड़की बारात के साथ रातभर द्वार पर खड़ी रही। दरअसल पूर्वी चंपारण के हरसिद्धि थाने के धनखैरटिया गांव के लालबहादुर सहनी की पहली लड़की गीता कुमारी की शादी पश्चिमी चंपारण के बैरिया थाना स्थित तिलंगही गांव के केदार चौधरी के पुत्र दीपक चौधरी के साथ तय किया गया था। शादी के लिए सारा व्यवस्था हो गया था पर अचानक लड़के वालों ने शादी करने से इंकार कर दिया। लड़की खुद बारात लेकर लड़के के घर चली आई लेकिन घर पर लड़का नहीं मिला। लड़की बारात लेकर पास में स्थित तिलंगही मठ पर जम गई। लड़की के साथ आए बारातियों का कहना है कि हम शादी करके ही वापस जाएंगे।

गीता ने कहा कि हम पति पत्नी बन कर अपना जीवन बीमा के साथ आधार कार्ड भी बनवाया है। उसके भाई की शादी दीपक की बहन से हुई है जो लुधियाना में रहता था और वहीं से उसके घर अक्सर फोन किया करता था और इसी फोन के माध्यम से उन दोनों में बातें शुरू हुई और मामला प्यार तक पहुंच गया। दीपक को पति मानकर मैंने अपने हाथ पर उसके नाम का गोदना भी गुदवाया लिया था, लेकिन वह कुछ दिनों बाद बदल गया। उसने शादी करने से इंकार कर दिया। मामला पंचायत तक पहुंचा और पंचायत ने तय किया कि 2.20 लाख रुपए दहेज देकर शादी होगी। पंचायत के फैसले पर शादी 16 को नवंबर तय किया गया था। पंचायत के फैसले के बाद गीता के पिता ने दीपक के पिता को दहेज दे दिया, लेकिन उनलोगों ने पैसा लेने के बाद शादी से इंकार कर दिया। इससे आक्रोशित गीता अपने परिवार वालों के साथ बुधवार को बारात लेकर दीपक के घर आ गई। लड़की वालों ने शादी के लिए भोजन और रहने की भी व्यवस्था कर ली थी।

वहीं पंचायत के पूर्व मुखिया ने बताया कि सारे गांव के सामने लड़के के पिता केदार चौधरी ने बॉन्ड बनाकर यह माना था कि वह लड़की पक्ष से दो लाख बीस हजार रुपया लिया है और 16 नवंबर को बारात लेकर जाएगा लेकिन उनके इंकार करने पर ऐसी नौबत आई है कि कानून और सामाजिकता यह कहता है कि लड़का पक्ष को शादी करना चाहिए अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो उन पर कानूनी कार्यवाई करने की पहल होगी।

ये भी पढे़ं:-   12 साल में 5 हजार चिट्ठी लिख डाला फिर भी राष्ट्रपति ने दो मिनट का वक्त नहीं दिया ! आजाद भारत की एक तस्वीर ये भी...

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME