22 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

EXCLUSIVE जंतर-मंतर पर अनशन पर बक्सर के चौबे जी : राहुल गांधी तक संदेश पहुंचाना जरूरी है

fgr

पंकज प्रसून की रिपोर्ट

नई दिल्ली, 6 मार्च, 2017

दिल्ली का जंतर मंतर ये वो जगह है जहां आपको देश भर के आंदोलनकारी अपनी मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन करते नजर आ जाएंगे। सोमवार को यूं ही किसी काम से मैं भी जंतर-मंतर से होकर गुजर रहा था। तभी अचानकर मेरी नजर एक होर्डिंग पर पड़ी…उस तख्ती पर लिखे गए एक-एक शब्द को गौर से पढ़ने लगा। जानकारी हुई कि बिहार के बक्सर जिले के अन्जनी चौबे जी 4 मार्च से आमरण अनशन पर हैं और उनकी मांग है कि वो कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से एक बार मुलाकात करना चाहते हैं।

अन्जनी चौबे का कहना है कि वो साल 2015 से ही राहुल गांधी से मिलने का प्रयास कर रहे हैं। अन्जनी चौबे का कहना है कि वो कांग्रेस पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ता हैं और उनकी दिली तमन्ना है कि वो उनसे एक बार मिलकर अपनी बात कह सकें। अन्जनी चौबे जिद पर अड़ गए हैं कि जब तक राहुल गांधी से उनकी मुलाकात नहीं होगी तब तक वो अपना अनशन नहीं तोड़ेंगे।

अन्जनी चौबे दावा करते हैं कि साल 2015 में राहुल गांधी के एक कर्मचारी संदीप कुमार ने उनको राहुल गांधी से मिलवाने का वादा किया था और उनको ये कहकर वापस बिहार भेज दिया था कि विधानसभा चुनाव का प्रचार करने के लिए राहुल गांधी जब बिहार पहुंचेंगे तो उनको मिलवा दिया जाएगा।

यहाँ देखे विडियो

हालांकि हम स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि अन्जनी चौबे के दावे की पुष्टि करने के लिए बोर्डिंग पर लगे नंबर पर कॉल भी किया। ये नंबर संदीप कुमार नामके शख्स ने ही उठाया लेकिन संदीप कुमार का कहना है कि वो राहुल गांधी के कर्मचारी नहीं हैं और उनका राजनीति से दूर-दूर तक कोई लेना देना नहीं है। संदीप कुमार ने ये भी कहा कि वो नोएडा के किसी प्राइवेट कंपनी में जॉब करते हैं और राहुल गांधी से भी उनका कोई संबंध नहीं है।

budha
अन्जनी चौबे का कहना है कि पार्टी की भलाई के लिए वो राहुल गांधी को कुछ सुझाव देना चाहते हैं। जब हमने उनसे ये सवाल पूछा कि वो बिहार कांग्रेस के नेताओं से क्यों नहीं मिलते हैं तो उनका साफ कहना था कि वे लोग कार्यकर्ताओं से कहां मिलते हैं। अन्जनी चौबे जिद पर अड़े हैं कि जब तक राहुल गांधी मिलने का समय नहीं देते हैं तब तक वो अनशन जारी रखेंगे। हमने भी अपने तरफ से उनको समझाने का प्रयास किया कि इस तरह की जिद करना उचित नहीं है । ये बात सोचने को मजबूर कर देता है कि इस तरह के जुनूनी कार्यकर्ता भी आज के दौर में मौजूद हैं जो अपने नेता को भगवान का दर्जा देते हैं। पार्टी की तरफ से कार्यकर्ताओं को उचित सम्मान नहीं मिलने पर इसको भावुकता कहें या अज्ञानतावश इस तरह के कदम उठाने को भी मजबूर हो जाते हैं जिनको उचित नहीं ठहराया जा सकता है।

ये भी पढे़ं:-   दरभंगा के गाँवों में अभी भी बैंकों के बाहर लम्बी है कतार, ये कतार कब ख़त्म होगी सरकार?

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME