29 अप्रैल, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

अपनी प्रतिभा से बिहार का नाम रौशन कर रही है ये जूनियर ‘माधुरी दीक्षित’

2_1475437038

पटना, 5 सितम्बर। भागलपुर की रहने वाली 12 साल की रिसिकाश्री का डांस देखकर बिरजू महाराज ने उन्हें जूनियर माधुरी दीक्षित बताया था। रिसिकाश्री अपनी मां मौसम शर्मा के साथ फिलहाल पटना में रहती हैं। रिसिका की मां मौसम भी एक डांसर हैं। मौसम शर्मा के कई स्टूडेंट कई चर्चित रियालिटी शो में पहुंच चुके हैं। अब तक करीब दो हजार छात्र-छात्राओं को नृत्य सिखा चुकी हैं। इनकी खासियत है कि इनसे नृत्य सीखने वालों में सिर्फ बच्चे-बच्चियां नहीं होते बल्कि उनकी मां भी शामिल होती हैं।

मौसम ने बताया कि मेरे माता-पिता चाहते थे कि मैं पढ़ लिख कर कोई ऑफिसर बनूं। लेकिन मेरा मन पढ़ाई में नहीं लग पाता था। मेरा मन सिर्फ डांस में ही लगता था इसलिए मैं डांस पर ही पुरा ध्यान दे रही थी। कहते है न कि इंसान को जिस काम में मन लग रहा हो उसी काम को करना चाहिऐ। क्योंकि वहीं काम आपको सफलता तक पहुंचा सकती है। शादी के बाद भी डांस सीखने और करने का यह जुनून बरकरार रखी। मौसम कहती हैं कि इस बीच उनकी बेटी रिसिकाश्री जब आठ महीने की थी तो पति से तलाक हो गया था।
जिसके बाद से मैं डांस का अपना स्कूल खोलने के सपने को पूरा करने में लग गई। बेटी कुछ बड़ी हुई तो करीब छह साल पहले नृत्यांगन हॉबी सेंटर नाम से अपना संस्थान खोला और यहां फोक, क्लासिकल, वेस्टर्न डांस का प्रशिक्षण देने लगी। बिहु, लावणी, राजस्थानी, मारवाड़ी, गरबा, घूमर, पंजाबी भांगड़ा जैसे फोक डांस, सालसा आदि सिखाती हैं। रिसिकाश्री दो साल की उम्र में ही स्टेट लेवल डांस प्रतियोगिता की विजेता रही, चार वर्ष की उम्र में एक रियालिटी शो की विजेता बनी। डीडी नेशनल के रियालिटी शो में चर्चित कोरियोग्राफर सरोज खान से अवॉर्ड ले चुकी हैं। इसके बाद तो वह सरोज खान के हाथों पांच बार अवॉर्ड ले चुकी है।

मौसम ने बताया कि एक कार्यक्रम में रिसिका के नृत्य को देखकर पंडित बिरजू महाराज इतने प्रभावित हुए कि उसे जूनियर माधुरी कह चुके हैं।
रिसिका नृत्यांगना होने के साथ ही साथ कराटे में ब्लैक बेल्ट है और उनकी मम्मी मौसम डांसर होने के साथ ही साथ योगा और फिटनेस ट्रेनर भी हैं। जब महिलांए अपनी बच्चियों को डांस सिखाने के लिए लेकर आती थीं। अक्सर वे खुद को फिट रखने के टिप्स पूछती रहती थीं। इसके बाद इन महिलाओं को भी डांस, योगा और एरोबिक्स सिखाने की शुरुआत की। फिलहाल, मौसम के इंस्टीट्यूट में तीन सौ महिलाएं उनकी स्टूडेंट हैं। 2 किसी भी दूसरी स्टूडेंट की तरह यह महिलाएं पूरे अनुशासन के साथ रोजाना क्लास आती हैं।

ये भी पढे़ं:-   जींस-टॉप में नो एंट्री... नो एडमिशन !

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME