05, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

‘बापू’ की याद में बिहार में 1 बजे के बाद से फिर से होगा ‘शराब बंद’

nitish-wine

पटना, 02 अक्टूबर : हाईकोर्ट ने बिहार में शराबबंदी को लेकर 5 अप्रैल 2016 को लागू हुए कानून को निरस्त कर दिया है। लेकिन बिहार सरकार आज 2 अक्टूबर से फिर नया शराबबंदी कानून ला रही है जिसके बाद फिर से शराब पर रोक लग जाएगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऐलान किया है कि शराबबंदी का नया कानून रविवार को लागू हो जाएगा। महात्मा गांधी के विचारों को जमीन पर उतारने के लिए इससे उपयुक्त दिन दूसरा कोई नहीं हो सकता है। दोपहर 1 बजे कैबिनेट की बैठक के बाद अधिसूचना जारी हो जाएगी। इसके साथ ही नया शराबबंदी कानून प्रभावी हो जाएगा।

साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी निर्दोष को सजा ना मिले, उसके लिए भी सबकुछ करेंगे। शराब मामले में लोगों को गलत ढंग से फंसाने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी। शराबबंदी का व्यापक प्रभाव हुआ है। इसका असर देखना है तो गांवों में जाइए। यह बात अलग है कि कुछ लोगों को बिहार से शुरू हुई यह सामाजिक क्रांति नहीं दिख रही है।

सरकार को शराबबंदी से पांच हजार करोड़ रुपए का नुकसान हो गया है, ऐसा दुष्प्रचार किया जा रहा है। शराब का कारोबार अनैतिक है। हरेक धर्म और महापुरुषों ने इसे अनैतिक बताया है। सबसे बड़ी बात है कि सरकार को पांच हजार करोड़ रुपए मिल रहे हों लेकिन आम आदमी के तो दस हजार करोड़ रुपए बर्बाद हो रहे थे। शराबबंदी के बाद वह रुपया दूसरे सकारात्मक कार्यों में खर्च हो रहा है। इससे राज्य में व्यवसाय बढ़ेगा। सरकार को अधिक रकम टैक्स के रूप में हासिल होगी।

क्या है बिहार उत्पाद (संशोधन) विधेयक-2016
बिहार एवं उड़ीसा अधिनियम 1915 को ही संशोधित किया गया था।इसमें प्रताड़ित करने वाले पुलिस व उत्पाद अफसरों के लिए 3 माह सजा का प्रावधान था। साथ ही इसमें शराब से जुड़े अपराध जमानती थे। इस विधेयक में घर में शराब मिलने पर सभी सदस्यों पर कार्रवाई का प्रावधान नहीं है। उत्पाद विभाग के एएसआई को पुलिसिंग का अिधकार नहीं।

क्या है बिहार मद्यनिषेध व उत्पाद विधेयक-2016
यह बिल्कुल नया शराबबंदी कानून है। जिसे राज्यपाल से भी मंजूरी मिल चुकी है। इसमें ऐसे मामलों में सजा को बढ़ाकर 3 साल कर दिया गया है। सभी अपराध को गैरजमानती किया गया है। साथ किसी घर में शराब मिली तो घर के 18 से अधिक उम्र के सभी सदस्यों को सजा का प्रावधान है। एएसआई को पुलिसिंग का अधिकार के साथ विशेष न्यायालय के गठन का प्रावधान किया गया है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

7 विचार साझा हुआ “‘बापू’ की याद में बिहार में 1 बजे के बाद से फिर से होगा ‘शराब बंद’” पर

  1. sudhir kumar October 2, 2016

    sabhi sarab band hona chahiye

  2. gopal kumar October 2, 2016

    tana sahi bichar ko koi kya kre jis desh me azadi nahi aaj bhi gulami kar raha hu

  3. Saroj Kumar ray October 3, 2016

    Good

  4. Juneau kumar jha October 3, 2016

    Bihar ko yadi vihar me badalna hi to sarab mukt Bihar banana hoga ye dusri bat hi ki mai Bihar chief minister ko pasand nahi karta btw.ye mudda ka mai support karta hi.

  5. Deepak kumar October 3, 2016

    English Sarab band nahi hona chahiye Sirf desi sarab band hona chahiye

  6. Sagar mishra October 3, 2016

    I support Nitish kumar for this decision

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME