10, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

Big Breaking: सुप्रीम कोर्ट ने नोटबंदी को बताया गलियों में दंगा फैलाने वाला फैसला, क्या रद्द होगा नोटबंदी का फैसला?

ts-thakur-suprim-court

पटना, 18 नवम्बर। संसद से लेकर सड़क तक नोटबंदी को लेकर घमासान जारी है। जहाँ एक तरफ संसद में दोनों सदनों की कार्यवाही को विपक्ष के हंगामे के चलते रद्द करना पड़ा। वहीँ दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट से सरकार को बड़ा झटका लगा है। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर किया था कि निचली अदालत में नोटबंदी के खिलाफ कोई याचिका दायर नहीं किया जाए।
सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के नोटबंदी के निर्णय को बिना तैयारी के किया गया फैसला बताते हुए तल्ख़ टिपण्णी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है इस तरह तो गलियों में दंगे फ़ैल जाएंगे। लोगों की परेशानी बहुत ज्यादा है। सरकार को संवेदनशीलता दिखानी चाहिए। साथ की सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नोटबंदी के खिलाफ निचली अदालतों में याचिका दायर करने पर रोक लगाने से मना कर दिया। इलेक्शन कमीशन स्याही लगाने को गलत बताते हुए बैंकों को ऐसे स्याही लगाने का निर्देश दिया जिसे निकाला जा सके।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

26 विचार साझा हुआ “Big Breaking: सुप्रीम कोर्ट ने नोटबंदी को बताया गलियों में दंगा फैलाने वाला फैसला, क्या रद्द होगा नोटबंदी का फैसला?” पर

  1. PS CHATURVEDI November 19, 2016

    Supreme Court’s view is totally wrong.

  2. Dhrub Narayan Karn November 20, 2016

    सुप्रीम कोर्ट ने सही टिप्पणी किया है।
    मोदी सरकार ने डिफॉल्टर कारपोट पुजिपतीयो एवं अडानी अंबानी को मदद पहूंचाने के लिए नोट बंदी का तुगलकी फरमान जारी किया।
    कुल काला धन का 94%बिदेशों में है।बिदेशों में काला धन रखने वाले देशद्रोहीयों को बचाने का चाल है,नोट बंदी।

    • FURKAN AHMAD November 21, 2016

      Sahi bola s.c.ne

    • 9172580877 November 21, 2016

      Notbndi glthe modi ji ye kam kiya ho ta samj ke to aaj hame etni dikhat nahijhelni parti hamar pesa hokevi hamaaj use nahinikal saktehe woh vihamemadi ji sehi much kar nikalna hoga mene aaj mene mere gar par pes vej ke1 hafhogaya avi tank mila nahi mere garwalo ko modiiji khana kilayge kay not band krne se pahe le aapne sochanahi ki aap

    • MISBA KAMAL November 22, 2016

      Yes PM MODI SWITCHBANK ME BLAKE MONY RAKNENALE KO ARAST KARNA CAHIYE .ISME BJP KA LEADERS BHI HAIN.

  3. Birdatt singh November 20, 2016

    अगर सुप्रीम कोर्ट सीना ठोंक कर कह रहे हैं कि दंगे होंगे, तो आप को यह भी पता ही होगा कि दंगे करवाने-करनेवाले कौन होंगे. जरा बताइये कौन करनेवाले हैं दंगे, ताकि पुलिस अग्रिम कारवाई कर सके

    • Deshbhakt November 22, 2016

      Jaahir so baat hai Bhajpa& RSS k log hi danga karwayenge…

      • Risalat pasha November 24, 2016

        Mere pass hai six thousand rupess pr me Saudi ariba me hu or yeaha per state. bank hai or bo change nahi ker rahe hai

  4. एक आम आदमी November 20, 2016

    BJP & RSS

  5. Mushtaque.ahmed.khan786@gmail.com November 21, 2016

    Suprem court law janne me sab se super hai aapna bichar deya hai. Jo sach aur lawful hai . Aap ka paisa aap ke he kam na aaye shame per to keyya fayeda. Aapki aulad aap ko sahara na de to us aulad se keya hoga. Aaj to aulad kam na aaye agar aap ke pas paise na ho fir aisi …………?

  6. Nazir Hussain Malik November 22, 2016

    Not band hone s janta paresan h not chalu hona chahiy

  7. Akshatanmol November 22, 2016

    अगर S.C.कहरहा की सरकार का फैसला गलीयॊ मॆ दंग्गा फैलानेवाला है तॊ सही है।
    १/पहले काला धन विदेशॊ से लाकर आम आदमीयॊ के खाते मॆ१०-१५लाख रूपये जमाकरने वाले थे।
    २/अब सरकार कॊ पता ही नहीं है की विदेशॊ मे कितना काला धन है।
    ३/२-३वर्ष मे सरकार ने काला धन देश के किसानॊ मजदुरॊ के पास खॊज कर निकाला और मालीया जैसे के कर्ज कॊ माफ कर दिया और उसे सफेद पैसे लेकर विदेश भेंज दिया?
    ४/Scकॊ चाहीये Rbiके गौर्नर पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दायर करे।

  8. Tausif November 22, 2016

    Right

  9. Ansari muzammil November 22, 2016

    Ok

  10. Mahbub November 22, 2016

    Right bilkul right

  11. Rehan jilani November 22, 2016

    Bjp sarkar ne jo bhi faisla liya hai wo bilkul galat hai sarkar ko chahiye ke ye not ka faisla wapas le is se logo ki jaane jarhi hai modi ji faisla
    pm ko chahiye ke wo apna bharat me hi rah kar kaam kre na Japan jane se not ka mashla hal nhi hogi

  12. Sukhdev thakur November 22, 2016

    Pesa bhi hmara or Bank me jaye to bank bale bolte he ajj 2000rs hi mileage ya kbhi bolte he pese nhi he ham apne pese kisase le agar ghar me koi bimar ho jaye to usko lekar hospital jaye ya bank ham gariv kiske pass jaye or agar kisi sohp se 100rs ki cheez kharidani ho to bo bolte he ki 2000rs ka nhi chalega khule pese do ya 1000rs & 1500rs ki cheez lo ham kha jaye MODI saheb Garbo ki tarf dekho

  13. हिन्दुस्तानी November 22, 2016

    500-1000 के नोट बंद करके अराजकता फेलादी हे,ओर आम जनता को परेशानी में डाल दिया है, बैंक से पैसे नहीं मिल रहे हे सुप्रीम कोर्ट के सरकार को नियंत्रित किया जा ना चाहिए, वरना देश की हालत खराब हो सकती हैं

  14. aliemamraz November 22, 2016

    Bjp /rss

  15. tanveer alam November 23, 2016

    fir se 500 0r 1000 k note chalu hone chahiye

  16. tanveer alam November 23, 2016

    modi ki ye tuglaki farman bilkul galat h note ban nhi hone chahie

  17. tanveer November 23, 2016

    fir se 500 or 1000 k note chalu kro taki logo ki preshani dur hu

  18. Abusaad Azmi November 23, 2016

    Bahut hi khobsorat ha har mamile me S C Hamra Sada Abad Rahe Alfaz nahi ziyada kuch kahne ke liye

  19. Nitin lunawat November 23, 2016

    500 ke note chalu rahne se publik ko paresani kame hogi
    1000 ke note band ho
    Aam aadmi ko suvidha 500 ke note se hogi
    New note surkulet me time hai

  20. अखिलेश चन्द्र एड्वोकेट November 23, 2016

    मोदी जी को इतना समझ नही आता है कि किस लाइन में कोई ब्लैक मनी वाला दिखाई दे रहा है। पब्लिक भी बेकूफ़ है उसको को भी नही समझ आता है कि सरकार से ज्यादा रोजगार हमें वही बिजनेसमैन देता है। आज जिसे हम ब्लैकिया बुला रहे है । क्या है किसी भी आम आदमी में की 10 लोगो को रोजगार दे सके। या है किसी सरकार में इतना दम की सभी बेरोजगारो रोजगार दे सके।नही है। क्या मोदी जी भगवान है । खुद तो फ्री की खा रहे है। उस परिवार से पूछो जिसका बेटा मरने वाला हो आज पैसे की वजह से।मोदी जी का तो फ्री में इलाज हो जायेगा। आपका हो पायेगा। बोलिये

  21. Rajesh November 24, 2016

    Jai hind jai modi raj

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME