07, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

पहले गुलाब से, नहीं माने तो डंडा से समझाने वाली ‘लेडी सिंघम हरप्रीत कौर’ होंगी सम्मानित !

newsofbihar501

रोहतास, 08 अक्टूबर : जो उग्रवादी और अपराधी पहले कभी प्रशासन के लिए सरदर्द हुआ करता था उसके लिए सरदर्द बनकर आयी कैमूर की एसपी हरप्रीत कौर के कारनामों को देखते हुए उन्हें राज्य में आंतरिक सुरक्षा पदक से सम्मानित किया जाएगा। जो की शाहाबाद रेंज के डीआईजी मो. रहमान की अनुशंसा पर राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है।

पुलिस मुख्यालय के सूत्रों की माने तो यह सम्मान तब मिलता है जब किसी आईपीएस को जब उनके द्वारा लगातार दो वर्ष से अधिक समय तक नक्सल क्षेत्र में रहकर शान्ति व्यवस्था कायम रख सकें। वहीं, जानकार बताते हैं कि आंतरिक सुरक्षा को मजबूत कर नक्सलियों को मांद में घुसने पर मजबूर करने की भूमिका भी एसपी की होती है।

बिहार के भभुआ में तैनात IPS अधिकारी हरप्रीत कौर को लोग कड़क पुलिस ऑफिसर के रूप में जानते हैं। किसी भी हालत में कानून का राज कायम रखने को संकल्पित और शराबबंदी में अहम भूमिका निभाने के लिए राज्य सरकार उत्पाद पदक से भी नवाज चुकी है। बिहार पुलिस की यह एसपी अपने कामों से लगातार सुर्खियों बनी रहती है। एसपी हरप्रीत कौर जहानाबाद में बतौर एसपी के पद पर करीब 1 साल तैनात रहीं। इस दौरान लेवी के साढ़े 27 लाख रुपए के साथ महिला नक्सली को गिरफ्तार करने के साथ बेगूसराय में 15 माह के कार्यकाल के दौरान मूर्ति तस्करों की गिरफ्तारी करने के अलावे कई चर्चित कारनामें कर चुकी हैं।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME