22 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

बिहार में अब भी ‘खड़ग सिंह’ के खड़कने से खड़कता है खड़गपुर, जानिए क्या है दिलचस्प मामला !

craime

मुंगेर, 03 अक्टूबर : खड़ग सिंह… और खड़ग सिंह का डायलोग ‘खड़ग सिंह के खड़कने से खड़कती है खिड़कियां’ सुनते ही जेहन में किताब का वो पन्ना सामने आता है जिसे हर किसी ने बचपन में ही डकैत के आतंक के अध्याय के तौर पर पढ़ा था। लेकिन आज भी बिहार के मुंगेर जिले में कुछ इसी तरह का देखने को मिल रहा है। यहां सिर्फ पात्र का नाम बदला है खड़ग सिंह की जगह नक्सलियों ने मुंगेर जिले के खड़गपुर में फिर से आतंक मचाना शुरू किया है। मिली जानकारी के अनुसार जिले के अंबेडकर चौक पर डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर शनिवार को नक्सलियों ने पर्चा चिपका कर हवेली खड़गपुर थानाध्यक्ष को धमकी दी है। नक्सलियों ने पर्चा में लिखा है कि खड़गपुर थानेदार बनगामा मुखिया भीम मंडल को किसी मामले में दर्ज मुकदमा में छोड़ने अथवा परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है। पोस्टर में लिखा गया है कि मुखिया का परिवार मेरे संगठन का सदस्य है। नहीं छोड़ने पर एसपी की तरह उड़ा दिए जाओगे। पर्चे के नीचे भाकपा माओवादी जिन्दाबाद, लाल सलाम जिंदाबाद लिखा है और मुहर भी लगायी गयी है। जिसके बाद से इलाके में दहशत का माहौल है। चौक चौराहों पर हर जगह इसी बात की चर्चा हो रही है। उधर दहशतजदा ग्रामीणों की सुचना पर मौके पर पंहुची पुलिस बल ने पर्चे को कब्जे में लेकर जांच कर रही है।

न्यूज़ ऑफ़ बिहार को मिली जानकारी के अनुसार बनगामा के मुखिया भीम मंडल और पूर्व प्रमुख निरंजन निषाद के लोगों के साथ शनिवार को चुनावी रंजिश के कारण जमकर मारपीट हुई थी। इस मामले में भीम मंडल समेत नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया था। भीम मंडल को गिरफ्तार किए जाने के बाद नक्सलियों ने पर्चा चपकाया है। इस संबंध में थानाध्यक्ष राजेश राय ने बताया कि पर्चे की जांच की जा रही है। इधर मुखिया भीम मंडल ने कहा कि साजिश के तहत विरोधियों ने पर्चा चिपकाया है। मुखिया ने कहा है कि उसका नक्सलियों से कोई लेना-देना नहीं है। यह कार्रवाई उसे किसी और झूठे मुकदमें में फंसाने की साजिश हो सकती है।

ये भी पढे़ं:-   लड़की को देखकर साइकिल की घंटी बजाने पर जमकर हुआ बवाल, लड़की ने...

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME