11, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

अगर ऐसा ही चलता रहा तो बिहार में नहीं उपजेगा आलू !

Untitled-1_19

औरंगाबाद, 16 अगस्त। राज्य में अभी भी आलू उत्पादन के क्षेत्र में केंद्र और राज्य सरकार की ओर से समुचित प्रोत्साहन का अभाव है। जिसका कारण है की अब किसानों को आलू उत्पादन करने में कृषि संसाधनों के बढ़ते दाम के कारण बिहार के किसानों के लिए आलू की खेती करना अब फायदे का सौदा नहीं रह गया। इसका सीधा असर आलू के आयात और निर्यात के आंकड़ो में देखा जा सकता है। बिहार के औरंगाबाद, रोहतास, नालंदा, कैमूर, भोजपुर, बक्सर, अरवल आदि जिलों में आलू की खेती बड़े पैमाने पर की जाती रही है और इन जिलों से आलू उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, दिल्ली, असम, झारखण्ड, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा आदि प्रदेशों में भेजी जाती रही है। हाल के वर्षों में आलू की खेती में बढ़ते जा रहे लागत के कारण किसानों के लिए इसका उत्पादन करना मुश्किल हो रहा है। किसान बताते है की ना तो केंद्र की तरफ से और नाही राज्य सरकार के तरफ से किसी भी प्रकार का मदद किया जाता है ऐसे में आने वाले समय में भी ऐसा ही चलता रहा तो आलू का उत्पादन पर भाड़ी असर पड़ेगा।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME