07, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

अगर रहें ऐसे हालत तो फिर से होगी बिहार की किरकिरी, ‘टपोरी’ बनेंगे ‘टॉपर’

exam

वैशाली, 26 अक्टूबर : बिहार सरकार भले ही शिक्षा व्यवस्था सुधारने की लाख दावे कर लें लेकिन यह दावें खोखले शाबित हो रहे है। कभी टॉपर घोटाला तो कभी इतिहास के प्रोफ़ेसर द्वारा गणित की कॉपी जांच का मामला, इन सभी खुलाशों के बाद लगातार बिहार की किरकिरी हो रही है लेकिन इन किरकिरी को रोकने के लिए बिहार की शिक्षा विभाग किसी भी प्रकार से सुधार करते हुए नज़र नहीं आ रही है।
फिलहाल मामला वैशाली जिले से जुड़ हुआ है जहाँ वैशाली जिले के महुआ में स्नातक की परीक्षा उच्च विद्यालय के कमरों में नहीं बल्कि कॉलेज के फील्ड में हो रही है। पार्किंग के लिए अलाट जगहों पर खड़ी मोटरसाइकिल पर छात्रा बैठकर परीक्षा दे रहें है। जिसके आगे पीछे कोई भी वीक्षक नजर नहीं आ रहे है। खुल्लेआम कदाचार हो रही है और इस बाबत कॉलेज के प्राचार्य का कहना है की स्कुल की क्षमता 2200 छात्रों को कॉलेज के कमरों में बैठा कर परीक्षा लेने की नहीं है। यहाँ 1500 छात्रों की जगह 2200 का व्यवस्था करने के लिए कहा गया है जो की नियंत्रण से बाहर है।

अब सवाल यह है की जब परीक्षा पूर्व शिक्षा विभाग इस बात का आंकलन करने में भी असक्षम है की किस स्कुल में कितने छात्रों का परीक्षा सुव्यवस्थित ढंग से हो सकता है तो ऐसे में ऐसी कल्पना कैसी की जा सकती है की बिहार सरकार की शिक्षा विभाग के दावों के अनुसार शिक्षा व्यवस्था में व्यापक बदलाव आ सकता है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME