09, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

क्या गंदी-गंदी गाली बकना बिहार पुलिस का जन्मसिद्ध अधिकार है और गाली सुनना आम जनता का कर्तव्य ?

Supaul

सुपौल, 10 अगस्त। बिहार पुलिस आपकी सेवा में…यह स्लोगन तो आपको याद ही होगा। बिहार के चैाक चैाराहों पर जगह-जगह नागरिकों को जागरूक करने के लिए लिखा गया है। यह अलग बात है कि बिहार पुलिस अपने स्लोगन के अनुरूप काम नहीं करती है। बल्कि इसके उलट शक्ति प्रदर्शन कर जनता को तंग करती है। ताजा मामला सुपौल पुलिस का है।

बताया जा रहा है कि वाहन चेकिंग के दौरान पुलिसिया रौब दिखाते हुए एक पुलिस अधिकारी ने एक युवक को इतना जलील किया के वो डिप्रेशन का शिकार हो गया। बताया जा रहा है कि वाहन चेकिंग के दौरान हेलमैट नहीं होने के कारण फाइन लगाया गया। साथ ही फाइन देने के बाद भी गंदी-गंदी गालियां दी गई और थप्पड़ भी मारा गया। पीड़ित युवक के अनुसार उसने इस घटना का वीडियो खुद बनाया है। इसमें किसनपुर थाना की पुलिस अरविंद सिंह उसके साथ बदसूलकी कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है।

क्या है मामला
-भारतीय जनता युवा मोर्चा के सुपौल जिला उपाध्यक्ष जयंत मिश्रा अपने बाइक से जा रहे थे सरायगढ़।
-किसनपुर थाना से पहले पुलिस ने वाहन चेकिंग के लिए रोका।
-डीएल दिखाने के बाद भी हेलमेट नहीं होने के बहाने मांगा गया पैसा।
-पुलिस अधिकारी अरविंद सिंह ने हेलमेट नहीं होने का हवाला देते हुए काटा चलान।
-तीन सौ रूपए का लगाया गया फाइन।
-बीजेपी नेता ने पैसे नहीं होने के कारण बार-बार दी दुहाई।
-इसके बाद भी पुलिसिया रौब दिखाते हुए जलील करते रहे पुलिस अधिकारी।
-आरोप अनुसार पुलिस ने गालियों के साथ की मारपीट।
-बगल के एटीएम से पैसे निकाल कर देने के बाद बार-बार बाइक की चाभी मांगता रहा पुलिस।
-भद्दी-भद्दी गालियां देने के साथ-साथ मारा थप्पड़।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME