06, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

बिस्मिल्ला खां वरिष्ठ कलाकार पुरस्कार से सम्मनित होगा बिहार का लाल ‘अर्जुन’

bismilah-khan

समस्तीपुर, 02 अक्टूबर : समस्तीपुर जिले के शिवाजीनगर के परवाना गांव निवासी व सुप्रसिद्ध नाल वादक मिथिला के लाल अर्जुन कुमार चौधरी को बिहार सरकार की ओर से बिस्मिल्ला खां वरिष्ठ कलाकार पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है. बचपन में अपने पिता स्वर्गीय लक्ष्मीकांत चौधरी से नाल व तबला की शिक्षा लेने और 1985 में गांव से ही मैट्रिक की परीक्षा उतीर्ण करने के बाद वे पटना आ गये। तब से पटना में रहकर अपनी कला को निखारने की साधना में लीन हैं। तबला से प्रयाग विवि से एमए की पढ़ाई करने के बाद पटना आकाशवाणाी के ऑडिशन में बी हाइग्रेड हासिल करने वाले पहले कलाकार बने।

कलाश्री, ताल शिरोमणि व संगत सम्राट की उपाधि से सम्मानित श्री चौधरी वैसे विलुप्त बाद्य यंत्रों की खोज व उसके विकास के लिए प्रयासरत हैं जो कभी लोककला के रूप में गांवों में पायी जाती थी। अब तक वे इस प्रकार के 56 वाद्य यंत्रों की खोज कर चुके हैं। इसमें मिथिला का पीपही और डिगडिगी के अलावा मगध क्षेत्र का डगरढोल व मोरबाजा मुख्य रूप से शामिल है। सुप्रसिद्ध संगीतकार रविन्द्र जैन, अनुराधा पौडवाल और पंजाब के प्रसिद्ध सूफी गायक बराली बंधु के साथ संगत कर चुके श्री चौधरी ने हिन्दी फीचर फिल्म हमजमीं के एक गाने में अपना संगीत व वादन भी किया है।

इससे पहले गैंग्स ऑफ वासेपुर में नाल वादन कर चुके हैं। वहीं मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सहयोग से श्री चौधरी विलुप्त वाद्य यंत्रों पर एक डाक्यूमेंटरी भी बना चुके हैं। 1995 से पद्मश्री शारदा सिन्हा के साथ संगत कर रहे श्री चौधरी ने 2010 में दिल्ली में हुए कॉमनवेल्थ में रिदम ऑफ बिहार की प्रस्तुति की थी, जिसे फिर पटना हाईकोर्ट की स्थापना के शताब्दी समारोह में पेश किया था। श्री चौधरी का मानना है कि गांवों में प्रतिभा की कमी नहीं है। जरूरत है उसे निखारने की। उन्होंने कहा कि गांवों में जो प्रतिभा है वह प्रैक्टिकली समृद्ध है। उन्हें सिर्फ मागदर्शन देने की जरूरत है। गांवों में अष्टयाम, कीर्तन या अन्य अवसरों पर गांव के लोग जो वाद्य बजाते हैं,उसकी शिक्षा कहीं नहीं लेते हैं,लेकिन उनमें कोई कमी नहीं मिलती।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME