05, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

चेहरे पर एक फुंसी ने बिगाड़ दिया ‘मिथुन’ का चेहरा… आप भी पढ़िए ये खबर और हो जाइये सतर्क !

15_09_2016-mithun_01

नवादा, 15 सितम्बर। क्या कभी आप अपना चेहरा देखकर डर जाते हैं नहीं न। अगर कोई इंसान अपना चेहरा देखकर डर रहा है तो सोचिए कि उसका चेहरा कैसा है। जानियें यह ताजा मामला 16 साल के किशोर मिथुन का है। मिथुन अपने विकृत चेहरे के कारण चर्चा का विषय बना हुआ है। जो खुद भी अपना चेहरा आईने में देखकर डर जाता है। गरीब पिता के पास इतने पैसे नहीं कि बेहतर इलाज करा सकें।

तिलकचक गांव में 11 साल पहले पांच साल के मिथुन के चेहरे पर एक फुंसी हो गई थी। उसके पिता रामजी चैहान ने गांव के डॉक्टर से ही दिखवाया और डाॅक्टर ने उन्हें दवा दिया था। पर उस दवा से कोई सुधार नहीं हुआ और फुंसी बढ़ता ही चला गया। जब तीन दिनों के बाद उसका चेहरा विकृत और शरीर लाल पड़ गया, तब ग्रामीणों ने इसे चेचक समझ लिया। गांववालों के कहने पर (चेचक) के ठीक होने का इंतजार उसके माता पिता करने लगे। लेकिन यह भयानक रूप ले लिया।
जिसे आप तस्वीर देखकर अंदाजा लगा सकते है। विकृत सा चेहरा और जगह जगह पर लोथड़े के तरह मांस लटक गए।

आपको बताते चले कि पिता रामजी चैहान ने मिथुन को नवादा सदर अस्पताल ले गया पर डॉक्टरों ने बीमारी को दवा का रिएक्शन बताया कि इसका इलाज लंबा चलेगा। बीमारी के कारण वह ठीक से बोलना तक नहीं सीख पाया है। जब उसे देखकर बच्चे डरने लगे तो गांव के स्कूल ने एडमिशन से मना कर दिया। अगर कोई नया लोग उसे देखता है तो डर जाता है। यहां तक कि छोटे बच्चे को उसके नाम से डराया जाता है। बड़े बच्चे उसे देखकर भूत-भूत चिल्लाकर चिढ़ाते हैं। इस कारण वह अधिकतर समय घर में ही रहता है। जब घर में मन नही लगता तो खेतों की तरफ निकल जाता है।

साथी ही मिथुन के पिता का कहना है कि वह अपने बेटेे को नवादा से लेकर गया और पटना तक के कई अस्पतालों में जा चुका हैं। लेकिन पैसे की परेशानी के कारण दिल्ली-मुंबई आदि जगहों पर ईलाज नहीं करवा सका है। आश्चर्य की बात तो यह है कि बीपीएल श्रेणी में आने वाले रामजी चैहान को न तो इंदिरा आवास मिला है, न ही राशन कार्ड। रामजी चैहान को अब केवल ऊपरवाले पर ही आस है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME