08, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

बाढ़ न आने से लाखों का घाटा, मांगी जा रही है कमला मइया से मनौती!

Naav-photo

photo credit : Ajay kumar kosi

पटना, 23 अगसत। एक ओर जहां बाढ़ के कारण पटना, भागलपुर, रोहतास सहित अन्य जिले के लोग परेशान हैं और जलस्तर में कमी आने की प्रार्थना कर रहे हैं वहीं बिहार में एक ऐसा भी वर्ग है जो गंगा, कोशी, कमला मइया से बाढ़ आने की कामना कर रहे हैं। इतना ही नहीं इसके लिए विधिवत मनौती भी मांगी जा रही है।

हम बात कर रह हैं दरभंगा, समस्तीपुर, मधुबनी आदि जिलें में नाव बनाने वाले बढ़ई लोगों का। जिन्होंने बाढ़ आने से पूर्व लगभग लाखों खर्च कर नाव तैयार की थी। इस उम्मीद के साथ की कमला और कोशी मइया इस बार उनपर ध्यान देगी। परिवार का आमदनी बढ़ेगा। लेकिन हुआ इसके उलटा।

दरभंगा जिला के सुपौल वासी और नाव निर्माता गणेश कहते हैं कि उम्मीद केे अनुरूप इस बार नाव का करोबार अब तक नहीं हो पाया है। कहां तो आमदनी की सोच रखी थी और कहां लाखों का घाटा हो रहा हैै। अबतक बाढ़ नहीं आने केे कारण लोगों में नाव खरीदने का रूझान नहीं है। अब तो उम्मीद हार चुके हैं। कारण इस क्षेत्र में सावन आते आते चैर में पानी भर जाता है। इस बार तो जनमस्टमी होने को आ गई है। बावजूद इसके नदी में पानी तक नहीं है।

गंगो कहते हैं कि जिले भर में नाव निर्माण का कारोबार लाखों में हैं। इससे कई परिवार की जीविका जुड़ी हुई है। दिन रात मेहनत करने के बाद सप्ताह भर में एक नाव बन पाता है। लगभग एक नाव निर्माण पांच से सात हजार तक खर्च आता है।

कभी बेटियों को दहेज में दी जाती थी नाव
स्थानीय लोगों के अनुसार बाढ़ की स्थिति पहले वाली नहीं रही। अब तो बाढ़ आने के बाद भी सड़क यातायात नहीं बाधित होतें हैं। पहले की बात कुछ और थी। यहीं कारण है कि लोग बेटी की शादी में लड़के वालों कोे नाव दिया करते थे।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME