05, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

परंपरा : दीवाली-छठ के दौरान यहां होता है भैंस और सूअर की लड़ाई, गांव वाले खाते है सूअर का मीट !

bhaisi-suar

मुज्ज़फरपुर, 05 अक्टूबर : आज के समय में भी परंपरा के नाम पर कुछ ऐसी भी परंपरा चलंत है जो अपने आप में अजीबोगरीब लगती है। पौराणिक परंपरा से जुड़ा हुआ यह मामला बिहार के मुजफ्फरपुर से जुड़ा हुआ है, जहाँ तक़रीबन 100 सालों से अधिक से भैंस और सूअर की लड़ाई की परंपरा चली आ रही है। मुजफ्फरपुर अंतर्गत शिवहर थाना क्षेत्र के पड़राही एवं रामपुर यदु गांव में लोग अपने पूर्वजों की परंपरा की दलील देते हुए आज भी भैंस और सूअर की लड़ाई की परंपरा को निभा रहे है। इस परंपरा को ग्रामीण दहरा खेल का नाम देते है। ग्रामीण बताते है की यह परम्परा 1940 से चली आ रही है। जो की दीपावली और छठ के बिच में किया जाता है।

इस खेल के लिए ग्रामीण आपसी सहयोग से एक सुअर की खरीदारी करते हैं। जिसके बाद आयोजन को धूमधाम से मनाने के लिए मेले का आयोजन किया जाता है। आयोजक के दौरान सुअर को नहला कर खेल मैदान में लाया जाता है, जहां आस पास के ग्रामीण अपनी-अपनी भैंस को लेकर आते है और उस सूअर से लड़ाई करवाते है। और यह लड़ाई तब तक चलता रहता है जब तक की सूअर की मौत ना हो जाये। जिसके बाद चंदा देने वाले ग्रामीण सूअर का मीट बनाकर खा जाते हैं।
इस लड़ाई में जो भैंस लड़ाई में सुअर को मारता है उस भैंस के मालिक को पुरस्कृत भी किया जाता है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME