07, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

मुख्यमंत्री साहेब, दिल्ली से आई आवाज.. चप्पा चप्पा गूंज उठेगा शहाबुद्दीन के नारों से !

sahabuddin

पटना, 04 अक्टूबर : बिहार में शहाबुद्दीन की जेल से रिहाई और जेल वापसी के बिच हुई राजनीतिक सियायत बिहार में लगातार नए नए चर्चाओं को गर्म हवा दे रही है। शहाबुद्दीन के जेल से वापस आते ही मुख्यमंत्री नितीश कुमार को परिस्थिति का मुख्यमंत्री बताना और सिवान में हुए पत्रकार राजदेव हत्याकांड के आरोपी मो. कैफ के साथ तस्वीरों का आना शहाबुद्दीन पर भारी पड़ चुका है। बिहार की राजनीति जो की कुछ समय पहले तक महागठबंधन बनाम बीजेपी थी वो अचानक लालू बनाम नितीश की दिख रही है। कल सोमवार को लालू यादव की पार्टी के समर्थकों ने राजधानी पटना सहित कई जिलों में शहाबुद्दीन के समर्थन में जमकर विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी की तो आज देश की राजधानी दिल्ली में जंतर-मन्तर पर शहाबुद्दीन के समर्थन में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विरोध में जमकर नारेबाजी किया है।
मुस्लिम समुदाय के लोग बिहार के बाहर भी शहाबुद्दीन के जेल जाने के विरोध में सड़क पर उतर आये है। जो की दिल्ली, सऊदी अरब में भी देखा गया है। विरोध कर रहे लोगों का आरोप है कि एक साजिश के तहत नीतीश कुमार के कारण ही शहाबुद्दीन को फिर से जेल जाना पड़ा है।
मो. शहाबुद्दीन जो की राजीव रौशन हत्या मामले में सात सितम्बर को पटना उच्च न्यायालय से जमानत मिलने के बाद 10 सितम्बर को भागलपुर जेल से रिहा हुए थे। शहाबुद्दीन की जमानत को रद्द करने की मांग को लेकर सर्वोच्च न्यायालय में राजीव के पिता चंद्रकेश्वर प्रसाद और बिहार सरकार द्वारा याचिका दायर की गई थी।

याचिका पर सुनवाई करने के बाद सर्वोच्च न्यायालय ने 30 सितम्बर को शहाबुद्दीन की जमानत रद्द करते हुए उन्हें तुरंत गिरफ्तार कर जेल भेजने का आदेश दिया था। न्यायालय के आदेश के बाद शहाबुद्दीन ने सीवान की एक अदालत में आत्मसमर्पण किया, जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

24 विचार साझा हुआ “मुख्यमंत्री साहेब, दिल्ली से आई आवाज.. चप्पा चप्पा गूंज उठेगा शहाबुद्दीन के नारों से !” पर

  1. Danish Iqbal October 4, 2016

    Good all the best news of bihar.

  2. फारुक हुस्सैन October 4, 2016

    मै अपने शहाबुद्दिन साहब के समर्थकों से अपील करता हुं की जितना जल्दी हो सके पटना मे धरना देने का डेट फिक्स करें,सिवान की जंता पटना मे जाकर अपना शांती से बात रखे,सिवान के लोग डरे नही थे डरे थे आप जैसा लोग जिन्की राजनित की दुकान बन्द होने का डर सता रहा था।शहाबुद्दिन साहब विकास को लेकर लोकप्रिये नेता हैं पुरे बिहार में,शहाबुद्दिन साहब सिर्फ एक जाती के नेता नही थे,वह हर जाती के नेता थे
    उनका सिवान मे विकास कुछ इस तरह रहा
    (1)इंडोर स्टेडियम। 1 करोब
    (2)राजेन्दर स्टेडियम 5 करोड
    (3)डी.ए.वी.काँलेज भवन 5.करोड
    (4)विधा भवन काँलेज भवन.50 लाख
    (5)इंजीनियरिंग काँलेज 1 करोड
    (6)टाउन थाना .65 लाख
    (7)आयुर्वेदिक काँलेज 30 लाख
    (8)सदर स्पताल भवन 70 लाख
    (9)क्ष्रीनगर पुल .80 लाख
    उसके बाद अगर सिवान मे कोई विकस हुआ है तो कोई बताऐ।
    इसलिए शहिबुद्दिन साहब सिवान के विकास पुरुष हैं
    सिवान के एक आम नागरीक फारुक हुस्सैन
    सौदी अरब

    • फारुक हुस्सैन October 4, 2016

      शहाबुद्दिन साहब के समर्थों से अपील है पटना मे धरना की डेट फिक्स करें

    • फारुक हुस्सैन October 4, 2016

      Please share karen

    • Pervez Alam October 5, 2016

      Farooque sb Aap ka kahna belkul sahi hai . Bahut jald yeah kam hone chahey.
      May Pervez Alam
      Kuwait say.

    • sandeep yadav October 6, 2016

      kisi ko jinda tejab me nahlana koi mahan kam h ise to fasi honi chahiye

      • Manish October 25, 2016

        Sahi kaha janab yadi sahabuddin ka samarthan dhrm k naam pr ho to chanda babu ka v samarthan hona chahie dharm k naam pr…

    • Manish October 25, 2016

      Vakai me bahut vikas hua hai sahabuddin k kal me pr sir…ek baat to manna padega ki jab koi apni vinamrata chhodkr hinsak ho jae to vo kisi kom ka nhi hota….aj narendra modi khuleaam deshvashion ka katl karbae to fir mai garranti deta hun koi hindu ya musalmaan unka samarthan nhi karega…kyon na unhone kitne hi srgikl striks krbae hon….

  3. फारुक हुस्सैन October 4, 2016

    शहिबुद्दिन साहब के समर्थों से अपील है पटना मे धरना की डूट फिक्स करें

  4. MANJAR ALI October 5, 2016

    muslim hona ka saja kat raha hi shabuddin shab g nitesh kumar to muslim berodhe hi he pahla o bjp ma tha to bjp wala he na bol bolaga nitesh kumar

  5. wafi parvez October 5, 2016

    shahabuddin zindabaad

  6. wafi parvez October 5, 2016

    shahabuddin ko sb phasa rhe h ye media sab mili h BJP se Dainik bharat wale bhi

    • Manish October 25, 2016

      To jin logon ko jinda tejab se nahlaya gya kya vo jhuth hai….ap log sirf or sirf jati or dharm ki raajniti karna jante hain or yahi karan hai ki aap log jahan v baste hain vhan gandagi or ashiksha bahut adhik hoti hai…..

  7. chand rasool October 5, 2016

    Jab Amit shah ko clean chit mil sakti hai to

    Sahabuddin bhai ko kyu nahi neyaye sab ke liye babar hona chheye

  8. जिशान खान October 5, 2016

    पुरे बिहार के मुसलमानों से अपिल करता हु कि पटना मे धरना दे

    • Manish October 25, 2016

      Ye musalmaan kon hain….?? Aisa nhi hai ki sahabuddin k samarthak sir musalmaan hi hain…balki hinduon ki v tadad kafi adhik hai…pr ek baat yad rkhie janab usi trah musalmaan v unke virodhi hain lekin vo jo buddhijivi hain….kripya dharm pr raajniti na kren or dil se soche apradhion ka koi kom nhi hota pr jb ve fanste hain to apne aap ko dharmik btate hain..

  9. afzal imam October 15, 2016

    Nitish ji aap kya jane saheb jab the us wakt ham jaise garib admi jab kisi bhi bimari ke tritment ke liye siwan jata tha to 500 Rs me dawa D.r ka fhis ane jane ka bhara sab iis 500 Rs me ho jata tha .aaj ke din 10000 Rs lagta hai .our kisi bhi garib shadi shuda bachchi ko dahej partha ke chordh chordaw ko milatet te the yeh hai hamare shaheb .sahbuddin saheb jinda baad.

  10. Bunty October 16, 2016

    Pure bihar siwan ke dr shahabuddin ke samartak ko patna main cm house ko gheraow kharna chaye

  11. मोहम्मद ज़हीर October 16, 2016

    मोहम्मद शाहबुद्दीन को फिर से जमानत मिलना चाहिए

  12. pappu October 16, 2016

    shahabuddin k bahar aane se ek sabse bada faida ye h ki kisi ko desh se bahar jane ki jarurat nhi padegi…sabko job bihar me hi mil jayega….job ex-chori karna,dakaiti..randari karna..morder & kidnaping karke achhe se paisa kama sakte h..isliye shahabuddin ko bahar nikalna jaruri h….

    • Manish October 25, 2016

      Sahi kaha shrimaan or isme tadad md. Kaif or un jaise logon ki bahut adhik hogi….

  13. Sarfe jamal October 18, 2016

    Dharna pardarsan itna kare ki shab jaisa insan farista aadmi chaino skun se ji sake

  14. Samsudin Alam November 21, 2016

    Sahabuddin sahb ko Rajnitik ke jariy fsaya gya hai Bihar me sare Neta apradhi hai koi Nahi hai Jo kuch na kuch kiya hi hai Aaj jitne sata me hai kiya o San chor nahi hai yaha jati bad horaha hai agr jatibad hai to ham piche hatne wale nahi hai ham is ka mukabla jam ke karenge Rahi bat media ke media ke hal Randi ka hogya hai Jo Netao ka Rakhel ban ke Rakhel ban ke rah gya hai

  15. उमर अली November 22, 2016

    जमानत होनी चाहिए

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME