10, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

देवताओं के सेनापति भगवान कार्तिक की बाथ में हुई प्राण-प्रतिष्ठा

madhepur-puja

मधेपुर, 1३ नवंबर: देवताओं के सेनापति भगवान कार्तिक की बाथ में हुई प्राण-प्रतिष्ठा। इस गांव में प्रतिवर्ष देवउठान एकादशी की रात होती है भगवान कार्तिक की प्राण प्रतिष्ठा। कार्तिक भगवान की स्थापना एकादशी (गुरुवार) से पूर्णिमा (सोमवार) तक होगी। पूजा प्रतिदिन रात्रि में होती है। विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम मधेपुर प्रखंड के बाथ गांव में गुरुवार की रात्रि भगवान् कार्तिक सहित अन्य देवी-देवताओं के वैदिक मंत्रोच्चार व विधि-विधान के साथ स्थापना हुई। कार्तिक शुक्ल देवोस्थान एकादशी तिथि से वर्षों से कार्तिक भगवान् की स्थापना की जाती रही है। वैसे तो सौ वर्षों से अधिक से इस गांव में कार्तिक पूजा होती है। जहां ग्रामीण श्रद्धालु व्रत रख कर संध्याकाल मूर्ति मधेपुर से ले जाते थे। वहीं लगभग दो दशकों से मूर्ति का निर्माण मन्दिर प्रांगण में ही करवाया जाता है। जहां संध्याकाल से ही कार्तिक, गणपति, लक्ष्मी-सरस्वती, भगवान वासुदेव (कृष्ण) सहित गौरी-शंकर का देर रात पर्यन्त पूजा-अर्चना होती रही। जहां कल देवोस्थान एकादशी होने के कारण प्रखण्ड के गांवों में लोग उपवास रखे थे वहीं क्षेत्र में कार्तिक भगवान की दर्शन करने सैकड़ो श्रद्धालुओं का ताता लगा हुआ था। श्रद्धा, समर्पण के संग भक्त आस्था निवेदित कर रहे थे। ग्रामिण पंडित व शिक्षाविद् डॉ. रामसेवक झा व पंडित खुशीकान्त मिश्र ने बताया कि हमारे पूर्वजों द्वारा प्रारम्भ तकरीबन सौ वर्षों से यहां कार्तिक भगवान की पूजा होती आ रही है। पूर्व वर्षों में ग्रामिण भक्तों के मनोकामना पूर्ण होने पर किसी एक परिवार द्वारा पूजा का सम्पूर्ण खर्च तथा पूजा समिति द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता रहा है। पूजा समिति के अध्यक्ष श्री मोहन झा एवं कोषाध्यक्ष हरिश्चन्द्र झा ने कहा कि इस वर्ष सम्पूर्ण ग्रामिण के सहयोग से कार्तिक भगवान की पूजा-अराधना पूजा समिति द्वारा की जा रही है। सम्पूर्ण भक्तजण पूजन व सांस्कृतिक कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु मनोयोग से लग गये है। कार्तिक पूजानोत्सव इस वर्ष कार्तिक शुक्ल देवोस्थान एकादशी 10 नवम्बर से प्रारम्भ होकर कार्तिक पूर्णिमा 14 नवम्बर तक चलेगी। पूर्णिमा के प्रातरूकाल मूर्ति का भसान मंगलवार को किया जाएगा। समारोह में नारायण झा, विनोदानन्द झा, मुखिया सुभाष झा, गौड़ीशंकर झा, डॉ. रामसेवक झा, पूर्व मुखिया शरद कुमार ठाकुर, पं. खुशीकान्त मिश्र , श्री मोहन झा, विनय झा, विष्णु झा, हरिशंकर झा, सुमन झा, मुरारी झा, सहित सैकड़ो ग्रामिण सम्मलित हैं।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME