29 मार्च, 2017
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

नोटबंदी से देश की आर्थिक विकास दर में आएगा 2% गिरावट: डॉ मनमोहन सिंह

35-4-1

पटना, 24 नवम्बर। पुरे देश में नोटबंदी के बाद आम लोगों के जीवन में अफरा तफरी मच गया है। पूरे देश में हाहाकार के बीच गुरुवार को मोदी जी राज्यसभा में लंच से पहले मौजूद रहे। लेकिन लंच के बाद वो सदन में नहीं आए। इस दौरान पीएम मोदी चुपचाप हंगामे को देखते सुनते रहे और करीब 10 मिनट तक सदन में रहने के बाद बाहर निकल गए। हंगामे और नारेबाजी के बीच ही सूचना प्रसारण मंत्री वैंकेया नायडू की विपक्ष से तीखी नोकझोंक हुई। इसी बीच संसद भवन परिसर में नोट बंदी के फैसले के खिलाफ एकजुट प्रदर्शन करने वाले विपक्षी सदस्यों ने कार्यवाही शुरू होते ही हंगामा करना शुरू कर दिया। विपक्ष के कई नेताओं ने तत्काल प्रधानमंत्री के बयान की मांग की। मगर प्रधानमंत्री चुपचाप बैठे रहे और हंगामे का नजारा लेते रहे। इसी बीच संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि सरकार चर्चा के लिए तैयार है। सरकार खुद इस फैसले के सभी पहलुओं पर चर्चा करना चाहती है। जबकि विपक्ष ऐसा नहीं चाहता।

आपको बता दें वहीं जब दोबारा सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीएम चर्चा से भाग रहे हैं। जब तक वो नहीं आएंगे संसद नहीं चलेगी। वहीं जेटली ने कहा कि ये कोई परंपरा नहीं है कि पीएम ही विपक्ष का जवाब देने आएं। इससे पहले नोटबंदी पर संसद में मचे संग्राम के बीच आज देश के पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने मामले पर अपने विचार रखे। मनमोहन ने कहा कि हम नोटबंदी का विरोध नहीं कर रहे है। लेकिन इससे जनता को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। इसलिए हम मोदी जी के फैसले से पुरी तरह असहमत हैं। नोटबंदी होने के बाद अभी तक 65 लोगों की मौत हो चुकी हैं। उनकी जिम्मेदारी कौन लेगा। पूर्व पीएम ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि नोटबंदी की वजह से करंसी सिस्टम से लोगों का भरोसा उठ गया है। इससे पुरे देश के अर्थव्यवस्था पर भी काफी असर पड़ा है। नोटबंदी होने से छोटे उद्योग खत्म हो गए हैं।

ये भी पढे़ं:-   आइडियल पब्लिक स्कूल की तरफ से मधुबनी-वासियों को नववर्ष 2017 की हार्दिक शुभकामना

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME