07, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

ड्रग्स माफिया क्वीन बनने का ख्वाब अधूरा रह गया….SSB के जवानों का शानदार ऑपरेशन

img-20161002-wa0023

राकेश सोनी की रिपोर्ट

पश्चिमी चंपारण, 2 अक्टूबर। मुजफ्फरपुर-गोरखपुर रेलखंड पर मादक पदार्थों की तस्करी थमने का नाम नहीं ले रहा है। सीमावर्ती नेपाल से तस्कर अब महिलाओं को आगे कर घटना को अंजाम देने में जुटे हैं। चरस, अफीम और गांजा की खेप लगातार इस रेल खंड पर रक्सौल से दिल्ली को जाने वाली सत्याग्रह एक्सप्रेस ट्रेन व सप्तक्रांति सुपर फास्ट एक्सप्रेस के जरीय महानगरों तक पहुंचाने में जुटे हैं। पिछले दो महीनों में लगातार बेतिया,नरकटियागंज व बगहा से भारी मात्रा में मादक पदाथों की जब्ती ने इसका खुलासा किया है। आज फिर सत्याग्रह एक्सप्रेस ट्रेन से 4 किलो चरस के साथ एक महिला को एसएसबी रेल पुलिस ने संयुक्त कार्यवाई में गिरफ्तार किया है।

जानकारी के अनुसार गिरफ्तार महिला बड़े तस्करों के गिरोह की सप्लायर सदस्य है। जिसे खेप पहुँचाने की एवज में 2 से 4 हजार तक मिलते हैं। बताया जा रहा है की बगहा रेलवे स्टेशन से गुप्त सुचना के आधार पर ट्रेन में पीछा कर रहे एसएसबी और रेल पुलिस को उस समय सफलता हाथ लगी। जब स्टेशन पर गाड़ी रुकी और सघन तलाशी ली गयी तभी एसी कोच से 4 किलो चरस के साथ हदिशन नामक महिला को रंगे हाथ धर दबोचा गया। गिरफ्तार महिला बॉर्डर के सिकटा की रहने वाली बताई गयी है। एसएसबी के अधिकारी गिरफ्तार महिला से पूछ-ताछ में जुटे हैं। कैमरे के सामने अभी अधिकारी बोलने से मना कर रहे हैं खुलासे के बाद ही यह स्पष्ट हो पायेगा की कौन कौन से गिरोह इन मादक पदार्थों की बदस्तूर तस्कारी को अंजाम दे रहा है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

2 विचार साझा हुआ “ड्रग्स माफिया क्वीन बनने का ख्वाब अधूरा रह गया….SSB के जवानों का शानदार ऑपरेशन” पर

  1. आरक्षण-कुलनाम का त्याग October 2, 2016

    ○ ओ माई गाॅड ! बिहार को भी “उठता पंजाब” बनने शे तुरंत और षख्त शे षख्त तरीके से रोकना चाहिए ; वर्ना अपना *युवा भारत * जल्द ही नपुंषक हो जायेगा •••

  2. आरक्षण-कुलनाम का त्याग October 2, 2016

    ○ ओ माई गाॅड ! बिहार को ” उडता पंजाब ” बनने से सख्त से सख्त तरीके से तुरंत रोकना चाहिए । वर्ना अपना युवा भारत नपुंसक बन जायेगा ।

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME