27 मई, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

झंझारपुर: प्रसिद्द स्वतंत्रता सेनानी रामकिशुन साह का निधन, लोगों में शोक का माहौल

md

सरफराज सिद्दीकी की रिपोर्ट

मधुबनी, 15 नवंबर: झंझारपुर अनुमंडल के लखनौर प्रखण्ड में दीप गांव के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी रामकिशुन साह नहीं रहे। वे करीब 102 वर्ष के थे। उन्होंने अंतिम सांस अपने पैतृक गांव दीप में रविवार देर रात करीब 11.30 बजे ली। सोमवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। मुखाग्नि उनके ज्येष्ठ पुत्र शंकर साह ने दी। अंतिम संस्कार से पूर्व बीडीओ मनीष कुमार, सीओ चन्द्रशेखर कुमार, आरएस ओपी थानाध्यक्ष मदन मोहन प्रसाद सिन्हा ने स्वतंत्रता सेनानी के आवास पर पहुंचकर उनके पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण किया और उन्हें अंतिम विदाई दी। स्वतंत्रता सेनानी श्री साह स्वतंत्रता संग्राम के दौरान 1946 के भारत छोड़ो आंदोलन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था। अंग्रेजों के अपने आंदोलन से नाक में दम करने वाले दीप के कई स्वतंत्रता सेनानियों में श्री साह भी अग्रणी थे। इन लोगों के आंदोलन से तंग आकर ही अंग्रेजों ने पूरे गांव को सामूहिक दंड भी दिया था और सैकड़ों घरों में अंग्रेजों ने आग लगा दी थी। इसके बाबजूद दीप के स्वतंत्रता सेनानियों ने हार नहीं मानी और अंग्रेजों के खिलाफ आंदोलन जारी रखा। श्री साह की धर्म पत्नी का पहले ही निधन हो चुका है। वे अपने पीछें तीन पुत्रों में दो जीवित पुत्र, पुतोह, पोता पोती, नाति नतिनी सहित पुरा परिवार छोड़ गए हैं। माल्यार्पण करनेवालों में मुखिया बेबी चैधरी, सरपंच महफूज आलम, पंसस चन्द्रकान्त मिश्र, पूर्व पंसस कलाम राईन, वार्ड सदस्य राजेश कुमार प्रसाद सहित सैकड़ों लोग थे।

ये भी पढे़ं:-   ट्रक की टक्कर में उड़े ऑटो के परखच्चे; चालक की मौत, एक ही परिवार के चार गंभीर रूप से जख्मी

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME