10, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

कुर्ता और पैजामा ‘गिरवी’ रख हाफ पेंट और गंजी पहनकर घूम रहा है बीजेपी का यह विधायक… जानिए क्या है दिलचस्प मामला !

binay-bihari

पटना, 28 अक्टूबर : एक आम नेता का सामान्य लिबास ऐसा होता है की जिसे दूर से देखने से ही कोई भी आराम से कह सकता है की सामने वाला आदमी किसी पार्टी का नेता है। और जब बात विधायक और सांसद की हो तो स्वभाविक है की रात के अँधेरे में भी उजला कुर्ते का लिबास विधायक और सांसद होने का अहसास दिला जाता है।
लेकिन कभी आपने सूना है की कोई विधायक हाफ पेंट और गंजी के लिबास में हो। जी हाँ हम बात कर रहे है बीजेपी पार्टी के विधायक विनय बिहारी की। जो की लौरिया विधानसभा क्षेत्रा के विधायक है। विधायक विनय बिहारी आज कल केंद्र और राज्य सरकार के सुस्त रवैये के कारण गांधीगिरी पर उतर आ रहे है। भाजपा विधायक विनय बिहारी बिहार सरकार में पूर्व मंत्री भी रह चुके है साथ ही वह भोजपुरी गानों के जाने माने लेखक भी है।

क्या है पूरा मामला
लौरिया के विधायक विनय बिहारी अपने क्षेत्र के मनुआपुल से योगापट्टी होते हुए नवलपुर रतवल चौक जाने वाली 44 किलोमीटर लंबी सड़क को बनवाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। उन्होंने अपने फेसबुक वाल पर अपनी व्यथा जाहिर करते हुए लिखा है की पिछले तीन साल से पश्चिम चम्पारण जिले के अपने क्षेत्र के इस जर्जर सड़क को बनवाने के लिए विनय पथ निर्माण विभाग के मंत्री तेजस्वी यादव, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय सड़क मंत्री नितिन गडकरी को पत्र दे चुका हूँमनुआपुल से योगापट्टी होते हुए नवलपुर रतवल चौक जाने वाली 44 km लंबी सड़क को बनवाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन अब तक सड़क नहीं बन सकी है।

नितिन गडकरी को दिए गए पत्र में विनय ने लिखा है कि 26 नवंबर 2013 को नीतीश ने लगभग 1.5 लाख की भीड़ के सामने इस सड़क को स्टेट हाईवे बनवाने का वादा किया था, लेकिन जैसे ही लोकसभा में BJP की जीत हुई उनका नजरिया बदल गया। अपने क्षेत्र के विकास के लिए किये गये वादे के वादाखिलाफी के विरोध में विधायक विनय बिहारी ने पत्र के साथ अपना कुर्ता नितिन गडकरी को दे दिया है। पत्र में विनय ने लिखा कि यह कुर्ता भारतीय जनता पार्टी के विधायक का नहीं बल्कि भाजपा के मान, सम्मान और प्रतिष्ठा का है। हमारी सड़क का निर्माण कार्य जब शुरू हो जाएगा तब मैं स्वयं इसे ससम्मान आपसे वापस प्राप्त कर लूंगा।
वहीं अपना कुर्ता गडकरी को देने के बाद विनय बिहारी ने पैजामा नीतीश को दिया। इसके साथ दिए पत्र में विनय ने लिखा कि यह पैजामा एक विधायक का नहीं बल्कि आपके विकास और सुशासन का है। कुर्ता तो मैंने भारत सरकार के पथ निर्माण मंत्री को दे दिया है। पैजामा आपको दे रहा हूं। यह पैजामा आपको अपने किए हुए वायदों की याद दिलाता रहेगा। अब इन कपड़ों को पुन: मैं तभी धारण करूंगा जब हमारे सड़क का निर्माण कार्य प्रारंभ हो जाएगा।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME