08, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

पेट में चूहा कूद रहा है, भूख मिटाने के लिए भी चूहे का सहारा ! बाढ़.. तुम क्यों आते हो ?

LOGO-01-(3)-(1)

सहरसा, 31 जुलाई : बिहार में बढ़ते बाढ़ के असर कुछ इस कदर हो रहा है की लोग विस्थापित है जनजीवन अस्त-व्यस्त है। वहीं खाने पिने के सामानों की कीमत इस कदर बढ़ गई है की बाढ़ पीड़ितों को खाने तक का आफत आ पड़ी है। नेपाल में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ का पानी बिहार के कई जिलों में भी घुस गया है। जारी हुए आंकड़े के अनुसार पुरे बिहार में 22 लाख से अधिक लोग अभी तक बाढ़ से प्रभावित हो चुके है। वहीं सहरसा जिले के कई गांव ऐसे हैं जो चारों तरफ से कोसी के पानी से घिर गया हैं। इन गांव में रहने वाले लोगों के लिए खाने का इंतजाम करना भी मुश्किल हो गया है। ऐसे में अनाज और सब्जी नहीं मिलने पर गांव के लोग मजबूरी में चूहों को अपना भोजन बना रहे हैं। बाढ़ पीड़ित चूहे खाकर भूख मिटा रहे हैं, वो भी 40 रूपये किलो।

एक दिन में कर लेते है 10-12 kg चूहों की बिक्री
गांव के रामसुन्दर सादा का कहना है कि वह दिन भर में 10-12 kg चूहा पकड़ लेता है। गांव के और लोग भी दिनभर चूहे पकड़ते हैं और उसे 40 रुपए किलो बेच रहे हैं। चूँकि पानी के घेराव के कारण तीन-चार दिनों से गांव से बाहर जाना मुश्किल हो गया है। आदमी की मजबूरी है कि वह चूहा खाने पर विवश है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME