06, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

आजादी के परवानों को सम्मान नहीं दे रहा विभाग!

Muzaffarpur-azadi

संतोष तिवारी की रिपोर्ट
मुजफ्फरपुर, 12 अगस्त : आज़ादी के आंदोलन से जुड़े शहीदों और स्वतंत्रता सेनानीयो व उनके आश्रितों के प्रति मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन कितना जवाबदेह है इसका एक बानगी आपको दिखा रहे है। पहले जब भी 15 अगस्त हो या फिर 26 जनवरी हर साल जिला प्रशासन स्वतन्त्रता सेनानी और उनके आश्रितों को आमंत्रण पत्र भेजकर बुलाकर समानित करने का काम करती थी पर अब उनका सम्मान करना तो दूर उनके यहाँ आमंत्रण पत्र भी भेजना मुनासिब नहीं समझती।

लगभग एक हज़ार से ऊपर इस जिले में कभी स्वतंत्रता सेनानी हुआ करते थे पर अब सिर्फ ग्यारह रह गए है। जिनमें सबसे ज्यादा उम्र 96 साल की महिला स्वतन्त्रता सेनानी जानकी देवी का है। 1972 में इंदिरा गांधी ने जानकी देवी को ताम्रपत्र देकर सम्मानित किया था। साल 2013 में महामहिम राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने दिल्ली बुलाकर सम्मानित किया लेकिन इसके वाबजूद भी ऐसे स्वतंत्रता सेनानी को यहाँ का जिला प्रशासन बुलाना या सम्मानित करना मुनासिब नहीं समझ रही है। पहले जिला प्रशासन इन लोगो को आमंत्रण पत्र भेजती थी और जिले में होने वाले कार्यक्रमो में इन्हें सम्मानित करती थी पर अब ऐसा नहीं होता है। यहाँ तक की स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों का जीवन जैसे तैसे चलता है यहाँ तक की इनको रिक्सा चलाकर जीवन यापन करना पड़ रहा है। जिला प्रशासन के इस रवैया का दर्द स्वतन्त्रता सेनानीयो के चेहरें को देखने पर साफ झलकता है। खैर इतना संतोष तो इन्हें जरूर है कि यहाँ का कोई पूछे या न पूछे पर सोनिया गाँधी इनका हाल खबर लेती रहती है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

ऐक विचार साझा हुआ “आजादी के परवानों को सम्मान नहीं दे रहा विभाग!” पर

  1. nityanand sharma August 13, 2016

    15 agast AUR 26 janwari bhi parshasan ke liye rasmadaygi ka sadhan ban chuka hai durbhagya hai pure ka ye in do rastriye tyoharo ko bhi jab senaniyo ke liye nimantran card Ki kami ho gayi ho an issue jyada sharmnak kya ho Sakta hai jabki Bihar ke mukhyamantri khud hi swatantrata senani ke Putra ho an udahran sasaram ka dena chahunga jaha kewal sasaram anumandal me 54 log kendra sarkar se swatantrata senani samman pention me rage ho AUR prashasan me 15 logo ko kewal nimantran kisi wyakti wishes ke hatho bhejwa diya itni bhi jahmat uthsne ko prashasan Tayar nahi Ki in he inke ghar nimantran bhi Saman janak dhang se bhejwaye is paristithi me senani ghar me hi rastriye diwash manane ko majbur hai khair in senaniyo me to desh aajad kara diya aage inko ishwar sadbudhi dega jay hind

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME