20 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

आजादी के परवानों को सम्मान नहीं दे रहा विभाग!

Muzaffarpur-azadi

संतोष तिवारी की रिपोर्ट
मुजफ्फरपुर, 12 अगस्त : आज़ादी के आंदोलन से जुड़े शहीदों और स्वतंत्रता सेनानीयो व उनके आश्रितों के प्रति मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन कितना जवाबदेह है इसका एक बानगी आपको दिखा रहे है। पहले जब भी 15 अगस्त हो या फिर 26 जनवरी हर साल जिला प्रशासन स्वतन्त्रता सेनानी और उनके आश्रितों को आमंत्रण पत्र भेजकर बुलाकर समानित करने का काम करती थी पर अब उनका सम्मान करना तो दूर उनके यहाँ आमंत्रण पत्र भी भेजना मुनासिब नहीं समझती।

लगभग एक हज़ार से ऊपर इस जिले में कभी स्वतंत्रता सेनानी हुआ करते थे पर अब सिर्फ ग्यारह रह गए है। जिनमें सबसे ज्यादा उम्र 96 साल की महिला स्वतन्त्रता सेनानी जानकी देवी का है। 1972 में इंदिरा गांधी ने जानकी देवी को ताम्रपत्र देकर सम्मानित किया था। साल 2013 में महामहिम राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने दिल्ली बुलाकर सम्मानित किया लेकिन इसके वाबजूद भी ऐसे स्वतंत्रता सेनानी को यहाँ का जिला प्रशासन बुलाना या सम्मानित करना मुनासिब नहीं समझ रही है। पहले जिला प्रशासन इन लोगो को आमंत्रण पत्र भेजती थी और जिले में होने वाले कार्यक्रमो में इन्हें सम्मानित करती थी पर अब ऐसा नहीं होता है। यहाँ तक की स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों का जीवन जैसे तैसे चलता है यहाँ तक की इनको रिक्सा चलाकर जीवन यापन करना पड़ रहा है। जिला प्रशासन के इस रवैया का दर्द स्वतन्त्रता सेनानीयो के चेहरें को देखने पर साफ झलकता है। खैर इतना संतोष तो इन्हें जरूर है कि यहाँ का कोई पूछे या न पूछे पर सोनिया गाँधी इनका हाल खबर लेती रहती है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

ये भी पढे़ं:-   "पैसा नहीं अनाज दो, राशन-किरासन, तीन डिसमिल जमीन दो"

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME