23 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

जेडीयू के बाद अब बिहार कांग्रेस में भी महाभारत शुरु, सिंधिया के सामने हुई नारेबाज़ी

11 अगस्त पटना Newsofbihar.com डेस्क

जब से महागठबंधन की टूट के बाद बिहार में सत्ता परिवर्तन हुआ है उसके बाद से इसका असर बिहार कांग्रेस की राजनीति में भी साफ देखा जा सकता है। दरअसल बिहार कांग्रेस में भी गुटबाज़ी के बीच रस्साकशी बढ़ गई है। पार्टी में गुटबाज़ी बढ़ती देख कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सदाकत आशरम में पार्टी नेताओं के साथ बैठक की। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में आयोजित इस बैठक में पार्टी के 27 विधायकों में से 4 विधायक नदारद रहे।

पार्टी में एकजुटता कायम रखने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने शुक्रवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया और जे पी अग्रवाल को पटना भेजा। सदाकत आश्रम में बुलाई गई बैठक में कांग्रेस नेताओं को स्थानीय नेताओं का भी विरोध झेलना पड़ा।निंदा का भी सामना

सरवत जहां फातिमा ने बिहार कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी को पद से हटाने की मांग करते हुए कहा कि पार्टी अध्यक्ष का पद अपने में आप में काफी महत्वपूर्ण है, ऐसे में उन्हें मंत्री भी बनाया गया। बतौर मंत्री उन्होंने पार्टी की गतिविधियों और हितों का ध्यान नहीं रखा लिहाजा अध्यक्ष पद से उन्हें हटा देना चाहिए।

बैठक से अररिया के अविदुर रहमान, बहादुरगंज से तौशिफ आलम, किशनगंज से मोहम्मद जावेद और अमौर से अब्दुल जलील मस्तान गायब रहे। ये सभी विधायक मुस्लिम बहुल सीमांचल से ताल्लुक रखते हैं।

हालांकी मार्गदर्शक की भूमिका में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा की पार्टी में अंसतोष की बात गलत है। उन्होंने कहा कि पार्टी के सभी विधायक नीतीश कुमार के फैसले के खिलाफ एकजुट हैं। सिंधिया ने नीतीश कुमार की निंदा की।

ये भी पढे़ं:-   बिहार के उठा-पटक में कूदी कांग्रेस, कहा "नीतीश ने किया जनादेश का अपमान"

बैठक के दौरान पार्टी नेताओं में असंतोष साफतौर से दिखा। ज्योतिरादित्या सिंधिया और बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चौधरी जब जिला पदाधिकारियों से अलग से बैठक कर रहे थे तो 50 से ज्यादा नेता और कार्यकर्ता नारेबाजी कर रहे थे लेकिन उनकी मांगों को अनसूना कर दिया गया। पूर्व स्टेट वाइस प्रेसिडेंट प्रवीण कुमार ने कहा कि यही हाल रहा तो यहां से पार्टी खत्म हो जाएगी।

इस मौके पर पार्टी के वरिष्ठ नेता बिहार में पार्टी के भविष्य को लेकर आश्वस्त नहीं दिखे। एक रिपोर्टर ने पूछा कि आरजेडी से उनका अलायंस जारी रहेगा तो ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि पार्टी की राज्य ईकाई इस मु्द्दे पर फैसला करेगी। ज्योतिरादित्य सिंधिया इस सवाल पर कोई साफ जवाब नहीं दे सके कि 27 अगस्त को राजद की रैली में कांग्रेस के नेता शामिल होंगे या नहीं।

उधर, पार्टी के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने ‘एकला चलो’ की बात कही. उन्होंने कहा कि राज्य की सभी क्षेत्रीय पार्टियों ने कांग्रेस को घोखा दिया है। कांग्रेस नेताओं ने पटना के गांधी मैदान में अक्टूबर में रैली आयोजित करने की भी बात कही।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME