06, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

इस बिहारी ने ‘घूसखोरी’ को मारा तमाचा, मुख्यमंत्री को भेज दिया 300 रुपये का ‘घूस’ !

nitish

बिहार के कटिहार जिले के एक युवक ने घूसखोरी को ऐसा तमाचा मारा है की जिसकी गूंज अब पुरे बिहार में है। इस गूंज का असर बिहार के राजनितिक सूरमाओं और आला अधिकारीयों के कान तक भी पंहुच चुकी है। कटिहार के दुर्गापुर निवासी मनोज कुमार चौधरी ने परिवहन कार्यालय में गाड़ी रजिस्टेशन के नाम पर तीन सौ रुपये घुस मांगा गया जिसके बाद मनोज कुमार चौधरी ने विभागीय कर्मियों को घूस देने के बजाये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नाम से तीन सौ रुपये का चेक बनाकर भेज दिया। इस संबंध में सीएम को पत्र भी लिखा गया है।

सीएम को तीन सौ रुपये की डिमांड ड्राफ्ट के साथ लिखे पत्र के बाद से जिला परिवहन कार्यालय में हड़कम्प मचा हुआ है। जिला परिवहन पदाधिकारी एके पंकज ने पूरे मामले से अनभिज्ञता जाहिर कर दी। बिहार के साथ कटिहार में इस मामले को लेकर चर्चा का बाजार गर्म है वहीं विरोधी दल के लोगों को सरकार पर कटाक्ष करने का मौका मिल गया है।

दुर्गापुर निवासी मनोज कुमार चौधरी के अनुसार उन्होंने नई बाइक खरीदी थी। रजिस्ट्रेशन के लिए जिला परिवहन कार्यालय कर्मियों द्वारा सरकारी राजस्व के अलावा अलग से तीन सौ रुपये की मांग की जा रही है। उन्होंने कर्मचारियों को रास्ते पर लाने के लिए उसे घूस देने के बजाय 300 रुपये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ही भेंट करने का फैसला किया।

इसके बाद श्री चौधरी ने इंडियन ओवरसीज बैंक की दुर्गास्थान चौक शाखा से मुख्यमंत्री के नाम तीन सौ रुपये की राशि डीडी संख्या 6649512 भेजी है। इसके अलावा श्री चौधरी ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर अपनी गाड़ी के लिए रजिस्ट्रेशन नम्बर उपलब्ध कराने की भी मांग की है।

इस पुरे मसले पर जिला परिवहन पदाधिकारी एके पंकज ने कहा कि उन्हें इस प्रकरण की जानकारी नहीं है। अगर ऐसा हुआ तो गलत हुआ। मामले की जांच करायेंगे। साथ ह इ बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी मामले की जाँच करवाने की बात कही है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

ऐक विचार साझा हुआ “इस बिहारी ने ‘घूसखोरी’ को मारा तमाचा, मुख्यमंत्री को भेज दिया 300 रुपये का ‘घूस’ !” पर

  1. आचार्य सुधीर झा September 29, 2016

    भगवान बचाए बिहार को जो जहाँ जिस पर पदासीन है उसकी पगार तो साइन करने के लिए मिलता है और कार्य करने के लिए सेवा शुल्क सभी विभाग में सशर्त लागु है

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME