09, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

जानिए हिन्दू धर्म में नारियल का क्या है महत्व, सभी शुभ कामों में क्यों फोड़ा जाता है नारियल !

Nariyal-ka-mahatw

ज्ञानदीप गुप्ता की रिपोर्ट
अध्यात्म : हिंदू परंपरा में नारियल समृद्धि की निशानी होती है। किसी भी काम की अच्छी शुरुआत करने से पहले मंदिरों में लोग नारियल फोड़ते हैं। नारियल भगवान गणेश को चढ़ाया जाता है और फिर प्रसाद के रूप में बांटा जाता है। नारियल इस धरती के सबसे पवित्र फलों में से एक है। इसलिए इस फल को लोग अपने भगवान को चढ़ाते हैं। आइए जानते हैं कि क्यों आखिर किसी भी काम को शुरू करने से पहले नारियल क्यों फोड़ा जाता है।

ऋषि विश्वामित्र को नारियल का निर्माता माना जाता है। इसकी ऊपरी सख्त सतह इस बात को दर्शाती है कि किसी भी काम में सफलता हासिल करने के लिए आपको मेहनत करनी होती है। नारियल एक सख्त सतह और फिर एक नर्म सतह होता है और फिर इसके अंदर पानी होता है जो बहुत पवित्र माना जाता है। इस पानी में किसी भी तरह की कोई मिलावट नहीं होती है।
नारियल भगवान गणेश का पसंदीदा फल है। जिस वजह से इसे नया घर या नई गाड़ी लेने पर फोड़ा जाता है। नारियल तोड़ने का मतलब अपने इगो को तोड़ना है। नारियल इंसान के शरीर को प्रदर्शित करता है और जब आप इसे तोड़ते हैं तो इसका मतलब है कि आपने खुद को ब्रह्मांड में सम्मिलित कर लिया है। नारियल में मौजूद तीन चिन्ह, भगवान शिव की आंखें मानी जाती है। इसलिए इस फल को कहा जाता है कि यह आपकी हर मनोकामनाएं पूरी करता है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME