27 मार्च, 2017
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

मिथिला के लोक संस्कृति से जुड़े जट-जटिन को जन जन तक पहुँचाने का माध्यम है नाट्यकला

jat

demo

कृष्णकुमार की रिपोर्ट

बेगुसराई, 01 दिसम्बर। बिहार की लोक संस्कृति से जुड़े जट-जटिन को लोग भूलते जा रहे हैं। यह कहना है आहुति नाट्य अकादमी का। आपको बता दें कि जट-जटिन को मिथिला में अलग-अलग तरीकों से प्रदर्शित करने की परम्परा रही है। बिहार के लोक संस्कृति से जुड़े जट-जटिन को लोगों तक पहुँचाने के लिए आहुति नाट्य अकादमी के तत्वावधान में गोदरगावां स्थित देवी वैदेही सभागार में दो दिवसीय नाट्य उत्सव का आयोजन किया गया। बुधवार को आयोजन के प्रथम दिन संस्था द्वारा जट-जटिन नाटक का मंचन किया गया। नाटक के कलाकार के रूप में उमाशंकर, आनंदी भारती, संदीप कुमार, मकसूदन कुमार, रौशन कुमार, नयनसी कुमारी आदि ने बेहतर प्रस्तुति कर दर्शकों का मन मोह लिया। इससे पूर्व कार्यक्रम का उदघाटन चित्रकार सीताराम, दीपक सिन्हा एवं संस्था के सचिव रामानुज प्रसाद ¨सह ने संयुक्त रूप से किया।

ये भी पढे़ं:-   नोटबंदी के बाद हुए तीन सभाओं के खर्च का ब्यौरा दें प्रधानमंत्री: डॉ अशोक चौधरी

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME