06, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

बिहार में बाढ़ को लेकर अल्टीमेटम… कभी भी ध्वस्त हो सकता है गंडक बराज !

Badh-01

पटना, 23 जुलाई : भारत-नेपाल सीमा से सटे बिहार के जिलों में सभी नदियां पूरे उफान पर हैं। महानंदा, बकरा, परमान, सुरसर, रतवा, नूना और कनकई नदियों के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि से पूर्णिया, अररिया और किशनगंज में बाढ़ की स्थिति भयावह होने लगी है । पूर्णिया में 12 साल की एक बच्ची बह गई है तो किशनगंज में दो लोगों की डूबने से मौत की खबर है। तीनों जिलों में पानी के दबाव के कारण कई तटबंध टूट गए हैं, जिससे सैकड़ों गांवों का संपर्क मुख्य पथ से टूट गया है । बाढ़ से लाखों लोग प्रभावित हैं। पूर्णिया के बैसा, अमौर, बायसी और डगरुआ के कई क्षेत्रों में पानी घुस गया है । बायसी प्रखंड में अबतक 250 और डगरुआ के 100 गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। प्रभावित लोग प्रशासन द्वारा लगाए गए शिविर में शरण लिए हुए हैं । नेपाल द्वारा पानी छोड़े जाने के बाद अररिया जिले में बाढ़ की स्थिति भयावह हो गई है।
वहीं वाल्मीकिनगर के गंडक बराज में ध्वस्त हुए बराज की मरम्मती को लेकर जल संसाधन विभाग की ओर से वाल्मीकिनगर बराज पहुंची एक्सपर्ट की टीम ने गेट संख्या 33 को पुरी तरह छतिग्रस्त हो जाने के कारण गंडक में उफान के बीच फाटक की मरम्मती कर पाने में असमर्थता जतायी है, जिसके बाद बिहार में बढ़ को लेकर दहशत का माहौल बन गया है।
वहीं किशनगंज जिले में पांच दिनों से लगातार हो रही बारिश और नेपाल से छोड़े गए पानी ने ग्रामीण क्षेत्रों में बाढ़ से घिरे लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। जिले में तकरीबन डेढ़ लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं । शनिवार को नदी से दो शव बरामद हुए, जिसमें एक की पहचान हो गई है । इससे पहले गुरुवार को भी दो लोगों की डूबने से मौत हो गई थी ।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

2 विचार साझा हुआ “बिहार में बाढ़ को लेकर अल्टीमेटम… कभी भी ध्वस्त हो सकता है गंडक बराज !” पर

  1. vikas kumar jha July 23, 2016

    baadh ki sithiti chintajanak hai. baadh se prabhavit logo ko tatkaal surakshit sthano per le jane ka prabandh kioya jana chahiye

  2. syed abdul mannan ashraf July 25, 2016

    Dard ko wahi samajh sakta hai jisne dard ko jheela ho, is mahan desh me chotiye neta,sansad,minister jo sote jaagte ac me hi hon wo sadak ka dard kiya janen,
    Sab ke sab sale chore hain, apradhi hain, hindu musalman,sikh isai ko lada kar karoron arbon ka ghotala pacha lete hain, desh ka nagrik roj 1fit narak me dhansta jaraha hai,
    1947 se aaj tak koi ke logon ne aisa konsa gunah kardiya ke osko backfoot pe rakh khe ho

    Agar jawab bhi mil jaye to dhanyawaad

    Jai Hind

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME