23 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

कैसे मनेगी इनकी होली? इंतजार करते-करते एक की मौत…विभाग उदासीन !

tghyu

demo

सरफराज सिद्दीकी की रिपोर्टः

झंझारपुर, 08 मार्च। अनुमंडल के चंदेश्वर संस्कृत मध्य विधालय के शिक्षकों का वेतन पिछले दो वर्षों से नहीं मिलने के कारण शिक्षकों में आक्रोश हैं। इस संबंध में विद्ययालय के शिक्षकों ने जिला शिक्षा पदाधिकारी सहित कई स्तरों पर शिकायत दर्ज कराई हैं। आवेदन के मुताबिक वेतन की आशा में एक शिक्षक राजेंद्र ठाकुर की मौत भी हो चुकी हैं। जबकि घनश्याम झा एवं भवनाथ झा की सेवा अवधि पूरी हो गयी हैं। इन सारी परिस्थियों से व्यथित शिक्षक प्रभारी प्रधानाचार्य राजनारायण झा, सुभाष चंद्र मुरारी कुमार झा ने काफी चिंता जताते हुए भूखमरी की स्थिति उतपन्न होने की बात कही हैं। बताया जाता हैं कि कथित फर्जी अनुभव प्रमणपत्र पर बहाल एक शिक्षक को लेकर वेतन भुगतान की समस्या उतपन्न हुई हैं। शिक्षकों का कहना हैं कि जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के स्थपना विभाग के एक कर्मी के मेल से यह भूगतान फंसा हुआ हैं।

ये भी पढ़े;झंझारपुर: कल से शुरू होगा दस दिवसीय महारुद्र यज्ञ

कहा तो यह भी जा रहा कि उक्त कर्मचारी के मेल से शिक्षक अपना वेतन उठाते आ रहे हैं। जिससे इन शिक्षकों में काफी आक्रोश हैं। इस मामले को लेकर अध्यक्ष संस्कृत शिक्षा बोर्ड और जिलाधिकारी के स्तर पर भी शिकायत की जा चुकी हैं। जिसमें फर्जी अनुभव प्रमाणपत्र के आधार पर अरविंद कुमार मिश्र का नौकरी होने की शिकायत कर जांच के बाद नियमानुसार कदम उठाने की मांग की जाती रही हैं।यह भी बताया जा रहा हैं कि शिक्षक अरविंद कभी भी विधालय नहीं आते। डीपीओ हसन ने बताया कि बोर्ड और स्कूल समिति में इसी कारण इन शिक्षकों का वेतन रूका हुआ हैं। जिसको लेकर समिति के सचिव पद पर अंधराठाढ़ी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मनोनित किया गया हैं। बावजूद आज तक मामला को सुलझाया नहीं जा सका हैं। मामला सुलझते ही शिक्षकों का वेतन निर्गत कर दिया जाएगा।

ये भी पढे़ं:-   ईमानदार बिहारी अधिकारी की राम कहानी, जर्जर घर से टपक रहा पानी !

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME