05, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

जहानाबाद: जानिये क्या है मूर्गांव स्थित छठ घाट का इतिहास

jhanabad-chhath-ghat

पंकज कुमार की रिपोर्ट

जहानाबाद, 05 नवम्बर। जहानाबाद के हुलासगंज प्रखंड के मूरगांव स्थित छठ घाट का अपना इतिहास है। गांव के बुजुर्ग बताते हैं कि टेकारी की रानी को इस क्षेत्र के पच्चीस गांव खोइंछा में मिला था। उसी समय इस तालाब का निर्माण कराया गया था। उस समय टेकारी राज के सैनिक यहां रहते थे और तालाब का इस्तेमाल हांथियो को स्नान कराने के लिए किया जाता था। आठ एकड़ में फैले इस तालाब में जहानाबाद और नालंदा के लोग छट व्रत करने आते हैं।
तालाब के उतरी छोर पर सूर्यमंदिर तो दक्षिणी छोर पर शिव मंदिर स्थापित है। छठ व्रतियो के लिये यहाँ के लोगों के द्वारा चबूतरे और अर्घ्य अर्पित करने के लिये ईंट सोलिंग का काम कराया जा रहा है। पहले अर्ध्य़ से पहले काम पूरा हो जाये इसके लिए युद्ध स्तर पर निर्माण कार्य कराया जा रहा है। बीडीओ ऐजाज आलम और डीपीआरओ ने छठ घाट और चल रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया।
लोगों ने बताया की यहां जितनी भीड़ जुटती है उस हिसाब से घाट की लम्बाई कम पड़ जाती है साथ ही तालाब के कुछ भाग पर अतिक्रमण कर लिया गया है। बिजली की रौशनी की कमी की बात भी लोगों ने बतायी। लोगों का कहना है की इन समस्याओं को अगर दूर कर लिया जाय तो बाहर से छठ करने वाले लोगों की संख्या में काफी बढ़ोत्तरी होगी। यहां एक सप्ताह तक छठ समारोह और सांस्कृतिक कार्यक्रम का दौर भी चलता है। इस दौरान यहां सप्ताह भर का मेला भी लगता है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME