27 मई, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

झंझारपुर: छठ घाटों की साफ़ सफाई को लेकर प्रशासन सुस्त, लोग परेशान

kljhg

सरफराज सिद्दीकी की रिपोर्ट

झंझारपुर, 06 नवम्बर। सूर्य उपासना एवं लोक आस्था के महान पर्व पर छठ घाटों की सफाई के डीएम के आदेश के बाद अनुमंडल एवं प्रखण्ड प्रशासन विभिन्न छठ घाटों की सफाई पर येन केन प्रकारेण ध्यान केन्द्रित किए हुए है। प्रशासन का यह ध्यान अनुमंडल एवं प्रखण्ड मुख्यालयों तक ही पोखरों की सफाई मामले में केन्द्रित दिखता है। देहाती क्षेत्रों में अभी भी लोग भगवान भरोसे भी नहीं, बल्कि अपने खुद के भरोसे सफाई कर रहे हैं। हलांकि प्रशासन ने मुखिया तक को सफाई का जिम्मा दिया है लेकिन हकीकत यह है कि पंचायत के फण्ड में सफाई के लिए पैसा ही नहीं है। आखिर मुखिया किस निधि से सफाई करावे, यह यक्ष प्रश्न है।
हलांकि कई जगहों से मुखिया वगैरह द्वारा येन केन प्रकारेण सफाई कराया गया है। लखनौर प्रखण्ड मुख्यालय से मात्र 100 फीट की दूरी पर झंझारपुर-मधेपुर मुख्य पथ के बगल में कमलदाहा पोखर की स्थिति खराब है। बीते वर्ष तक प्रोटेक्शन वाल नहीं बनने पर लोग सड़क की ओर से आराम से यहां अर्घ्य देते थे, लेकिन इस बार प्रोटेक्शन वाल बनने से कठिनाई है। वाल के नीचे पोखर की ओर से मिट्टी भराकर घाट बनाने का काम यहां नहीं किया गया। इस पोखर में करीब 150 परिवार सूर्योपासना का पर्व करते हैं।
कुछ बच्चों ने 25*3 फीट में घाट बनाया है। लेकिन यह जगह 150 परिवारों के लिए नाकाफी है। ग्रामीण शंकर यादव, सागर यादव एवं रविन्द्र कुमार ने बताया कि इस बार सड़क पर ही सूप तथा पर्व के सामान रखने होंगे। देहाती क्षेत्रों में भी पोखरों की यही स्थिति है। बीते कई वर्षों में आपसी सामंजस्यता से स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दी गई बीस हजार की राशि जो स्वच्छता अभियान के लिए पंचायतों को दी जाती है, पंचायत ने खर्च किया था। इस बार यह राशि भी नहीं है।

ये भी पढे़ं:-   शिवहर: कूड़े-कचरे के ढेर के बीच शहर को स्मार्ट बनाने का वादा !

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME