10, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

बिहार के इस जिले में भगवान् श्री राम ने खाया था लिट्टी चोखा… जानिए क्या है पूरी कहानी

1_118

पटना, 24 नवंबर। लिट्टी चोखा बिहार की लोगों को बहुत ही पसंद है, या यूँ कहें पहली पसंद है। जैसे ही ठंड का मौसम आता है बिहार में सब के घर में लिट्टी चोखा बनना शुरू हो जाता है। लेकिन बिहार का एक ऐसा जिला है जहां हर घर में एक दिन लिट्टी चोखा ही बनता है। जी हां हम बात कर रहे हैं बक्सर जिले का जहां पर इसके पीछे एक पौराणिक मान्यता भी है। बक्सर ही नहीं आस पास के जिलों में भी लोग हिन्दी माह के अगहन के कृष्ण पक्ष को लिट्टी चोखा प्रसाद के रुप में ग्रहण करते हैं। लोग इस दिन को पंचकोश के रुप में भी जानते हैं।
आपको बताते चलें कि इससे पहले बक्सर में पांच दिनों का मेला लगता है और मेला जिस दिन समाप्त होता है उस दिन को वहां के लोग पंचकोश के नाम से जानते है। फिर वहां के लोग लिट्टी चोखा खाते हैं। इसे सनातन धर्म की आभा कहें या जिला वासियों का संस्कृति से लगाव। कहा जाता है कि हिन्दी माह के अगहन के कृष्ण पक्ष को भगवान श्रीराम और लक्ष्मण जब सिद्धाश्रम पहुंचे तो इस क्षेत्र में रहने वाले पांच ऋषियों के आश्रम पर आर्शीवाद लेने आए थे। वहीं विश्वामित्र मुनी ने उनको लिट्टी-चोखा खाने के लिए दिया था और भगवान राम ने इसे बड़े ही प्यार से खाया था।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME