26 जुलाई, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

महादलित परिवारों पर टूटा दबंगों का कहर, जान से मारने व महिलाओं की आबरू लूट लेने की दी धमकी

iopkolokl

सुपौल, 05 नवम्बर। दलितों के साथ हुए अत्याचार का ताजा मामला है सुपौल के छातापुर थाना क्षेत्र अंतर्गत राजेश्वरी ओ पी क्षेत्र का। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार महादलित बस्ती में दबंगों ने दबंगई करते हुए महादलितों की जम कर पिटाई की जिसमें तीन महिला सहित आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए। इस दौरान हमलावरों ने घरों में लूट पाट करते हुए भारी उत्पात मचाया। किसी तरह जान बचा कर छातापुर थाना पहुंचे महादलित परिवारों को उपचार के लिए पीएचसी छातापुर में भर्ती कराया गया। पी एच सी में इलाजरत महादलित परिवारों ने प्रेस से बातचीत के दौरान राजेश्वरी ओ पी पुलिस को इस घटना के लिए जिम्मेवार बताया है।
पीड़ितों ने बताया की दर्जनों की संख्या में दबंगो द्वारा धावा बोलने के बाद ओपी पुलिस को मोबाइल से घटना की सूचना दी गयी, लेकिन पुलिस पांच घंटे विलंब से पहुंची। तब तक हमलावरों ने महिलाओं के साथ मारपीट करते हुए घरों में रखे सभी समान लूट लिए। वहीँ पीड़ितों ने बताया की लूटपाट के दौरान इंदिरा आवास के निर्माण के लिए रखे छड़, बालू, गिट्टी, ईट, सहित सभी घरेलू सामग्री लूट कर साथ लाए ट्रैक्टर पर लाद कर ले गये। उन्होंने आगे बताया कि मारपीट व लूटपाट की घटना को अंजाम देने के बाद उनलोगों ने जान से मारने व महिलाओं की आबरू लूट लेने की धमकी दी।
महादलितों ने कहा कि बस्ती के सभी पुरूष सदस्य रोजी रोजगार के लिए बाहरी प्रदेश में हैं। ऐसी स्थिति में हमले के बाद सभी महिला व बच्चों में दहशत का माहौल बना हुआ है। पीड़ितों ने बताया कि जान बचा कर जब वे लोग छातापुर थाना पहुंचे तो पाया कि दबंगों ने उन लोगों का थाना तक पीछा किया। बस्ती निवासी व एससी एसटी जाति के अनुमंडल निगरानी समिति के सदस्य जय नारायण ऋषिदेव सहित अन्य महादलितों ने कहा कि ओपी पुलिस को प्रभाव में लेकर दबंगों ने घटना को अंजाम दिया है।
यही वजह है कि क्राईम मिटिंग के दिन ही घटना को अंजाम देने का सही समय तय किया गया। बताया जा रहा है कि घटना की सूचना के बाद पांच घंटे विलंब से पुलिस पहुंची और मामूली रूप से पूछताछ कर निकल गई। जिसका नतीजा रहा कि सभी हमलावर सुनियोजित तरीके से घटना को अंजाम देने में सफल रहे। थानाध्यक्ष शैलेंद्र कुमार मिश्र ने बताया कि पीड़ित परिवारों से प्राप्त आवेदन को अग्रेतर कार्रवाई के लिए राजेश्वरी ओपी पुलिस को भेज दिया गया है। अग्रसारित आवेदन प्राप्त होते ही प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई प्रारंभ की जायेगी।

ये भी पढे़ं:-   मुजफ्फरपुर : नक्सली एरिया कमांडर गिरफ्तार

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME