27 मार्च, 2017
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

ना भूतो लेकिन अब भविष्यति…मैथिल वर-वधु परिचय सम्मेलन की परंपरा का शानदार शुभारंभ !

maithil

newsofbihar.com डेस्क

मुंबई। यूं तो महाराष्ट्र की राजधानी है मुंबई लेकिन 23 अक्टूबर शनिवार को मायानगरी मुंबई मानो मिथिलामय ही हो गई थी।
मैथिली भाषा के गीतों के मधुर तान व कलाकारों के मनमोहक सुरों से सजे रंगा-रंग सांस्कृतिक कार्यक्रम के बीच मैथिल समन्वय समिति के तत्वावधान में आयोजित मैथिल वर-वधू परिचय सम्मेलन का आयोजन ऐतिहासिक स्मृति की अलख को जगाते हुए सम्पन्न हुआ। विगत 23 अक्टूबर, 2016 को मुम्बई के ठाणे उपनगर का वागले इस्टेट, उन ऐतिहासिक क्षणों का साक्षी हुआ जब अपने आप में इस तरह के प्रथम वर-वधू परिचय सम्मेलन देश मे पहली बार मुंबई मे मैथिल समन्वय समिति द्वारा तथा मुंबई के मैथिलीसेवी संगठनों के सहयोग से आयोजित किया गया है। कार्यक्रम की शुरुआत, ओम्कार, शंखध्वनि व मंगलाचरण के साथ मैथिली ठाकुर द्वारा गाये भगवती वंदना जय जय भैरवि असुर भयाउनि और मुख्य अतिथि श्री अनादिनाथ झा के दीप प्रज्वलन से प्रारम्भ हुई। मैथिली ठाकुर द्वारा, गाये कर्णप्रिय भगवती वंदना जय जय भैरवी ने कार्यक्रम को शुरू में ही बांध के रख लिया । बाद के कलाकारों में गायक विकास झा, गायिका श्रुति झा आदि ने माहौल को बनाए रखा।

हास्य कलाकार अद्भुदानंद जी ने लोगों का भरपुर मनोरंजन किया। मंच संचालन किसलय कृष्णा व जान्हवी झा के हाथों में था। दर्शकों को मैथिली अकादमी के पूर्व अध्यक्ष व प्रसिद्ध मंच संचालक कमलाकांत झाजी के विनोदी परन्तु ज्ञानबर्द्धक मंच संचालन का लाभ भी मिलता रहा। विदित हो कि मिथिला की सांस्कृतिक विशिष्टता के अंतर्गत विवाह योग्य पुरुषों का, इसी तरह का एक परिचय सम्मेलन सौराठ सभा के नाम से प्रसिद्ध है । बदलते समय के साथ-साथ सांस्कृतिक मूल्यों में आधुनिकता का सुंदर समन्वय करने का मैथिल समन्वय समिति के इस प्रयास को, आम मैथिलों ने हृदय से स्वीकार कर जोरदार स्वागत किया है। कार्यक्रम में न केवल मुंबई बल्कि अन्य क्षेत्रों से आए गणमान्य लोगों ने भी शिरकत की, जिनमें दिल्ली से श्री केशव झा आदि लोगों ने कार्यक्रम में भाग लिया। विवाह योग्य युवक युवतियों के मंच पर परिचय के साथ ही साथ इस तरह सैकड़ों परिचयों का संकलन कर एक स्मारिका भी जारी किया गया। वर्तमान में मैथिल कन्याओं का विवाह, योग्य वर की खोज और बेहिसाब दहेज की मांग की वजह से काफी तनावपूर्ण व थकाने वाला हो गया है। बेहतर विकल्प की अनुपलब्धता से, अधिक उम्र में विवाह व बेमेल विवाह जैसी समस्याएं भी हैं । इस स्थिति में मैथिल समन्वय समिति द्वारा आयोजित वर-वधू परिचय सम्मेलन और कार्यक्रम के बाद वितरित स्मारिका इन सारी समस्याओं और विसंगतियों को दूर करने में सहायक होगा। कार्यक्रम के पश्चात् स्वादिष्ट भोजन की व्यवस्था थी । उपस्थित मैथिल समाज ने स्वादिष्ट भोजन और बेहतरीन विलक्षण व्यवस्था का भरपुर आनन्द उठाया।

ये भी पढे़ं:-   मधुबनी : उज्जवला योजना के तहत सासंद ने किया एलपीजी गैस वितरण

इस मौके पर संस्था से जुड़े मशहूर शिक्षाविद डॉ संदीप झा, पंकज झा, धीरज चंद्र झा समेत सभी कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए आगंतुको का आभार प्रकट किया।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME