25 अप्रैल, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

मुख्यमंत्री जी… बिहार के सरकारी स्कूलों में हो रहा है कुछ ऐसा, कहीं फिर से बदनाम ना हो जाये ‘हमारा बिहार’

img-20160928-wa00051

अररिया, 29 सितम्बर : बिहार में शिक्षा की बुनियादी सुविधा पर भी शिक्षा के सौदागरों का नज़र बना हुआ है। स्वाभाविक है जब स्कूलों में सौदागरों की दलाली होगी तो वहां पढाई कैसी होती होगी इसका अंदाजा कोई भी लगा सकता है। ताज़ा मामला अररिया का है जहाँ आये दिन सरकारी स्कूलों में धांधली की बाते सामने आ रही है। उक्त मामले को लेकर बिहार विकास युवा मोर्चा के अध्यक्ष प्रसेनजीत कृष्ण ने जिलाधिकारी से मिलकर चार सूत्री मांग के सन्दर्भ में ज्ञापन सौंपा है। सौंपे गये मांग पत्र के ज्ञापन में कहा गया कि नरपतगंज प्रखंड के कुछ विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत शिक्षकों ने विद्यालय भवन, शौचालय, व किचन शेड बनाने के लिए अग्रिम राशि का उठाव तो किया पर विद्यालय में निर्माण के बजाय पैसों को निजी कार्यों में लगा दिया। इससे वर्षों से भवनों का निर्माण अधूरा पड़ा है और छात्रों को हर रोज परेशानी से रूबरू होना पड़ता है। विद्यालय प्रागंण में अधूरे भवन आज भी उनकी करतूतों का उदाहरण पेश कर रही है। इनमें मवि घेसित टोला खाबदह, मवि तामगंज, प्रवि खाबदह हरिजन, प्रवि चैहान टोला, प्रवि यादव टोला, प्रवि रिफयूजी टोला, प्रवि रेवाही गोहाटी, कन्या प्रवि चंदा, प्रवि शेख टोला डुमरबन्ना, प्रवि महेशपटटी, मवि अचरा, मवि भंगही बीएमसी, नवसृजित वि पासवान टोला बबुआन, मवि देवीगंज, मवि खैरबन्ना, मवि अचिन ऋषिदेव टोला, प्रवि लस्का, प्रवि ईश्वचन टोला बरहारा, प्रवि बासवारी गोखलापुर, प्रवि शर्मा टोला मधुरा पश्चिम, प्रवि थलहा गढ़िया आदि शामिल हैं। सरकारी खाते से पैसों की निकासी के बावजूद आज तक भवनों का निर्माण नहीं करवाया गया और कुछ में कराया गया तो वो आज तक अधूरा है। इसके अलावा फर्जी डिग्री जांच, साइकिल व पोशाक राशि की जांच, खैरखां के पासपोर्ट प्रकरण पर विशेष ध्यान देने के बारे में कहा। इस पर जिलाधिकारी बोले इनमे से कुछ मामले को मैं खुद मोनेटरिंग कर रहा हूँ। ज्ञापन में दिए गए अन्य मामले पर भी उचित पहल किया जाएगा। साथ ही डीएम श्री कृष्ण ने कहा 34 ऑरिजनल शिक्षक गायब मामले के कई पहलु में एक पहलु पर नजर डाले तो पता चलता है की गायब 34 शिक्षक का एवसेंटी बीआरसी में कौन लेकर जाता था। बीआरसी में कार्यरत बीआरपी (जो बिल पास करवाता है) उसको इसकी भनक कैसे नही लगी। बीआरपी से गहन पूछताछ करने पर सब सामने आएगा। जल्द एक्शन लेने के लिए जिलाधिकारी को मोर्चा के मिथलेश यादव, धीरज पासवान, मनु कृष्ण, चंदन, नंदन यादव ने धन्यवाद ज्ञापित किया है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

ये भी पढे़ं:-   सेक्स रैकेटियर के खिलाफ टीवी स्क्रीन ब्लैक क्यों नहीं ? सेक्स रैकेट और 'जनवेदना' का काला चिट्ठा

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME